पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्यक्रम:गैर राजनीतिक, धार्मिक, सांस्कृतिक व सामाजिक संगठन है विहिप : नंदकिशोर

आलमनगर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सोमवार को आयोजित समारोह में उपस्थित विहिप के कार्यकर्ता। - Dainik Bhaskar
सोमवार को आयोजित समारोह में उपस्थित विहिप के कार्यकर्ता।
  • विश्व हिंदू परिषद के स्थापना दिवस समारोह का हुआ समापन

विश्व हिंदू परिषद के 57वां स्थापना दिवस का समापन समारोह नगर के संघ कार्यालय भवन में संपन्न हुआ। कार्यक्रम की अधयक्षता विहिप के जिलाध्यक्ष इंदु शेखर सिंह ने और मंच संचालन नगर अध्यक्ष मंटू कुमार साह ने किया। कार्यक्रम के उद्‌घाटन से पूर्व राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला सहसंपर्क प्रमुख नंदकिशोर साह के द्वारा मंत्रोच्चार किया गया। इस अवसर पर संघ के जिला सह संपर्क प्रमुख नंदकिशोर साह ने कहा कि विश्व हिंदू परिषद पूरे देश में अपना 57वां स्थापना दिवस मना रहा है। विश्व हिंदू परिषद गैर राजनीतिक, धार्मिक, सांस्कृतिक और सामाजिक संगठन है। यह सेवा का भी एक बड़ा संगठन है। इसकी स्थापना श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के दिन मुंबई के संदिपनी आश्रम में संघ के द्वितीय सर संघचालक गुरु जी ने 1964 में किया था। उस समय से संगठन सेवा के क्षेत्र से लेकर अन्य राष्ट्रीय और धार्मिक आंदोलन का नेतृत्व कर रहा है। उन्होंने बताया कि देशभर में एक लाख एकल विद्यालयों के माध्यम से विहिप आदिवासी और वंचित समाज के बीच काम कर रहा है। राम सेतु बचाने से लेकर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण से लेकर अमरनाथ श्राइन बोर्ड तक को बचाने के लिए आंदोलन किया है। विश्व के 50 देशों में विहिप का कार्य चल रहा है। सभी हिंदू सहोदर भाई हैं। कोई छोटा-बड़ा ऊंच-नीच नहीं है। हम सभी हिंदू एक हैं, ऐसा सिद्धांत लेकर हम देश में काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बजरंग दल के माध्यम से लव जेहाद से बचाने और जेहादी आक्रमणों से हिंदू सुरक्षा के काम के साथ ही गो हत्या और धर्मांतरण के विरूद्ध भी हम देश में समय- समय पर कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम सबको भारत माता की रक्षा और हिंदुत्व के लिए कार्य करना पड़ेगा।

कोरोना काल में बजरंग दल ने उत्कृष्ट कार्य किया: इंदु शेखर
विहिप के जिलाध्यक्ष इंदु शेखर सिंह ने कहा कि जिस प्रकार भगवान श्रीकृष्ण का जन्म अधर्म को खत्म करने के लिए हुआ है, उसी प्रकार विहिप का जन्म भी जन्माष्टमी पर अधर्म को खत्म करने के लिए हुआ है। इसलिए तुष्टीकरण को छोड़कर ही देश आगे बढ़ सकता है। विश्व हिंदू परिषद, बजरंगदल राष्ट्र और हिंदू हित के लिए कार्य करने वाला संगठन है। जिसके माध्यम से हम देश की एकता और अखंडता को बरकरार रख सकते हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना काल में बजरंगदल सबसे बड़ा उत्कृष्ट कार्य करके दिखा दिया कि यह सेवा का सबसे बड़ा संगठन है। इस अवसर पर नगर इकाई के राम कुमार, सूरज बजरंगी, विकास कुमार व धीरज समेत अन्य लोग भी उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...