रिपाेर्ट का इंतजार खत्म:24 घंटे में मिले 48 नए मरीज, एक्टिव कोरोना संक्रमितों की संख्या 625 हुई

मधुबनी5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की जांच करते स्वास्थ्यकर्मी। - Dainik Bhaskar
रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की जांच करते स्वास्थ्यकर्मी।
  • रामपट्टी स्थित आरटीपीसीआर लैब में ही अब सैंपलों की जांच शुरू

जिले में शुक्रवार को कोविड संक्रमितों की संख्या 625 हो गई। सुबह जहां संक्रमितों की संख्या 577 थी तो वहीं देर शाम की रिपोर्ट में यह संख्या बढ़कर 625 हो गई थी। जिले में पॉजिटिव मरीजों के लगातार मिलने के बावजूद भी शुक्रवार की दोपहर तक जिले की पॉजिटिविटि रेट 1.2 थी व जिला 20वें स्थान पर था। इधर, लगातार कोरोना संक्रमित मिलने के बीच एक राहत की खबर भी सामने आई। होम आइसोलेशन में रहने वाले 61 लोगों ने कोरोना को मात दी। वहीं, कोविड-19 के नोडल पदाधिकारी डाॅ. कुणाल कौशल ने बताया कि वर्तमान में सिर्फ 11 कोरोना संक्रमित मरीज ही कोविड केयर सेंटर रामपट्‌टी में भर्ती हैं। ये सभी स्वस्थ हैं व एक-दो दिनों में इनको भी डिस्चार्ज कर दिया जाएगा। इस तरह कोरोना की तीसरी लहर में 127 कोरोना संक्रमितों ने कोरोना को मात दी है। बुधवार को 22, गुरुवार को 44 व शुक्रवार को 61 संक्रमितों ने कोरोना को मात दी है।

कोविड से संबंधित हर बिंदू पर रखी जा रही है नजर

सिविल सर्जन डाॅ. सुनील कुमार झा ने बताया कि कोविड की तीसरे लहर को लेकर विभाग अलर्ट है। कोविड- 19 से संबंधित हर बिंदू पर विभाग नजर रखे हुए है। उपचारात्मक व निरोधात्मक कार्य में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सभी पीएचसी प्रभारी, उपाधीक्षक व सदर अस्पताल के अधीक्षक को इस संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दे दिए गए हैं।

कोविड के बीच अच्छी खबर ये कि शुक्रवार को 31 लोगों ने कोरोना को हराया

तीसरी लहर के मद्देनजर संक्रमित मरीजों के त्वरित परिवहन और सुरक्षित ढंग से आइसोलेशन केंद्र/ अस्पतालों तक पहुंचाने के लिए सभी जिलों द्वारा राज्य में परिचालित 102 एंबुलेंस सेवा के अलावा अतिरिक्त एंबुलेंस वाहन की आवश्यकता महसूस की जा रही है। मालूम हो कि मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के अंतर्गत इस जिले में 18 की संख्या में एंबुलेंस क्रय एवं निबंधन परिवहन विभाग द्वारा किया गया है। उक्त एंबुलेंस को भाड़े पर रखने के लिए कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह ने पत्र जारी कर सीएस डॉ. सुनील कुमार झा को निर्देश दिया है। बताया गया है कि सीएस प्रखंडों की संख्या के आधार पर प्रति दो प्रखंड पर 01 एंबुलेंस की अधिकतम सीमा के अधीन आवश्यकतानुसार एंबुलेंस भाड़े पर रख सकते हैं।

खबरें और भी हैं...