ट्रूनेट मशीन से की जा रही जांच:3 दिनों में 8 नए मरीज मिले, अभी कोरोना के 11 एक्टिव मरीज हैं

मधुबनी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सिविल सर्जन बाेले- जिन लाेगाें की बारी आए, वाे काेराेना का टीका जरूर लें, लापरवाही नहीं बरतें

जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में पिछले तीन दिनों में फिर से एक बार उछाल देखने को मिला है। विभाग से मिली जानकारी के अनुसार 11 मार्च से लेकर 13 मार्च तक जिले में कोरोना के 8 नए मरीज सामने आए हैं। इसके साथ ही जिले में कंफर्म कोरोना पाॅजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 7452 हो गई है। 11 एक्टिव मरीज जिले में वर्तमान में भी हैं। वहीं, आइसोलेशन वार्ड में एक भी मरीज नहीं है। नए सभी 8 कोरोना पाॅजिटिव मरीजों की जांच ट्रुनेट मशीन से की गई है।

हालांकि ट्रुनेट मशीन की जांच में पाॅजिटिव पाए गए मरीजों के सैंपल काे आरटीपीसीआर में जांच के लिए भेजने की चर्चा स्वास्थ्यकर्मियों के बीच हो रही थी। बता दें कि 11 मार्च को 2, 12 मार्च को 5 व 13 मार्च को 1 कोरोना पाॅजिटिव पाए गए हैं। इन मरीजों में राजनगर के 3, शाहपुर के 1, अरेेेर का 1, बासोपट्टी का 1, सदर का 1 व खजौली का एक पाॅजिटिव मरीज शामिल है। ऐसे में लोगों को कोविड-19 के गाइडलााईन का पालन करना चाहिए क्योंकि देश-दुनिया के विभिन्न क्षेत्रों में कोरोना पाॅजिटिव मरीजों की संख्या में इजाफा देखने को मिल रहा है।

कोविड की जांच में तेजी लाने का दिया गया दिशा-निर्देश
सिविल सर्जन डाॅ. सुनील कुमार झा ने बताया कि सभी पीएचसी प्रभारियों, उपाधीक्षकों व सदर अस्पताल के अधीक्षक को जांच में तेजी लाने का आदेश दिया जा चुका है। साथ ही संबंधित लैब टेक्नीशियन को कम से कम 40 आरटीपीसीआर जांच करवाने का आदेश दिया गया है। सभी संबंधित अधिकारियों को कहा गया है कि कोविड-19 की जांच के लिए रखे गए लैब टेक्नीशियन से प्रत्येक दिन 40 आरटीपीसीआर जांच कराया जाना सुनिश्चित करेंगे। वहीं, उनके नाम के साथ प्रत्येक उनके द्वारा कितनी जांच की गई है, यह भी जानकारी देनी होगी। स्वास्थ्य प्रबंधक अाैर बीसीएम लोगों को जांच के लिए उत्प्रेरित करेंगे ताकि जांच में तेजी आ सके।

खबरें और भी हैं...