पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

निर्देश:सभी प्रभारी मंत्री को चार दिनों के अंदर अपने-अपने क्षेत्र की फीडबैक रिपोर्ट मुख्यमंत्री को सौंपनी है : संजय झा

मधुबनी12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पैतृक निवास स्थान अररिया में मंत्री संजय झा और अन्य। - Dainik Bhaskar
पैतृक निवास स्थान अररिया में मंत्री संजय झा और अन्य।

बिहार के जलसंसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने कहा कि सूबे के सभी जिलों के प्रभारी मंत्री मुख्यमंत्री के आदेश पर बाढ़ से हुई क्षति का जायजा ले रहे हैं। प्रभारी मंत्री इलाके में चल रहे राहत कार्य का भी जायजा लेंगे। उन्होने कहा कि वे इसी सिलसिला में सुपौल तथा मधेपुरा जा रहे हैं। यह बातें मंत्री ने अपने अरड़िया गांव स्थित पैतृक निवास स्थल पर कही। कहा कि यह मामूली बात नहीं है कि मुख्यमंत्री बिहार के एक एक जगह का फीडबैक प्राप्त कर रहे हैं। यह पहले के सरकार में कल्पना से परे की बात थी। सभी प्रभारी मंत्री को चार दिनों के अंदर अपने अपने क्षेत्र का फीडबैक रिपोर्ट सीएम को सौंपना है। उन्होने कहा कि सूबे की जनता की अगर कोई फिक्र करता है तो वे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हैं। मुख्यमंत्री ने घोषणा कर रखी है कि सरकार के खजाना पर पहला अधिकार बाढ़ पीड़ितों का है।

मंत्री ने कहा कि पूरा विश्व कोविड से त्राहिमाम कर रहा है। इसके बावजूद कोरोना के प्रथम चरण में बिहार सरकार ने स्वास्थ्य सुविधा पर दस हजार करोड़ रूपए खर्च किया। बिहार में रिकॉर्ड वैक्सीनेशन हुआ है। यही न्याय के साथ विकास है। अपने विभाग के बावत पूछे जाने उन्होंने कहा कि सब लोग जान रहे हैं कि पश्चिमी कोशी नहर में सत्तर वर्ष का रिकॉर्ड टूटा है। कमला, कोसी और गंगा में हर जगह काम हुआ है। बांध की मरम्मति हुई है।बाद मंत्री सुपौल के लिए अपने निवास प्रस्थान से कर गए। मंत्री के साथ पूर्व विधायक जगत नारायण सिंह, सुभाष झा, अनुरंजन झा, दीपक झा, अनुप कश्यप, रविन्द्र कुमार ठाकुर, श्रवण ठाकुर, विनय कुमार झा सहित दर्जनों लोग थे।

खबरें और भी हैं...