पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आक्रोश:कोरोना की दूसरी लहर की आशंका; बिना मास्क के ही प्रदर्शन करने पहुंचे हजारों लोग

मधुबनी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • श्रमिक विरोधी कानून के खिलाफ विभिन्न संगठनों ने कलेक्ट्रेट के सामने किया प्रदर्शन

अखिल भारतीय हड़ताल के सर्मथन गुरुवार को सीटू, अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ, बीएस एसआर यूनियन, आशा, ऑटो चालक संघ, रसोइया संघ, आंगनबाड़ी सहायिका सेविका संघ, बिहार राज्य किसान सभा, एसएफआई, डीवाईएफआई, जनवादी महिला समिति, जुड़े हजारों लोगों ने समाहरणालय के समक्ष प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के कारण समाहरणालय पर आवागमन घंटों बाधित रहा। इस कार्यक्रम का नेतृत्व सीटू के जिला संयोजक राजेश कुमार मिश्र, अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के जिला मंत्री गणपति झा, विजय यादव, आनंद मोहन चौधरी, नवोनाथ झा, रामनाथ यादव प्रभात कुमार मन्नू ,सरोज प्रसाद, दयानंद झा, भोगेंद्र यादव, उर्मिला देवी, अविनाश गौतम, मनोज महतो, इंदु यादव, सुनील पासवान, श्याम नारायण सिंह भी मौजूद थे।

वक्ताओं ने कहा कि जब तक हमारी मांग को केंद्र सरकार के द्वारा लागू नहीं किया जाता तब तक संघर्ष जारी रखा जाएगा। अखिल भारतीय स्तर पर आयोजित ट्रेड यूनियन हड़ताल के समर्थन में भाकपा माले व खेग्रामस ने मधुबनी रेलवे स्टेशन परिसर से प्रतिवाद मार्च निकाला। यह प्रतिवाद मार्च शहर के गंगा सागर चौक,बाटा चौक होते हुए समाहरणालय पहुंची। जहां सभी ने केंद्र सरकार के विरोध में प्रदर्शन किया व आधा घंटा सड़क भी जाम किया। प्रदर्शन कार्यक्रम का नेतृत्व माले के अनिल कुमार सिंह ने किया।

प्रदर्शन के दौरान किसान महासभा के प्रेम कुमार झा, खेग्रामस के जिला अध्यक्ष उत्तीम पासवान, जिला सचिव बेचन राम ने किया। कार्यक्रम में माले नेता श्याम पंडित, दानी लाल यादव, विशंभर कामत, शंकर पासवान, राजेंद्र यादव, मनीष मिश्रा,राम बाबू साह, योगेन्द्र यादव, मनोज झा, शैलेन्द्र सिमांचल, सहित सैकड़ों कार्यकर्ताओं उपस्थित थे। माले इस आंदोलन के समर्थन में सड़क पर उतरी है। वहीं करोना की दूसरी लहर के बावजूद भी अधिकतर प्रदर्शकारियों ने मास्क नहीं पहना था। वहीं पूरे कार्यक्रम के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग भी दिखाई नहीं दी।

केंद्र सरकार के खिलाफ की जमकर नारेबाजी, आधा घंटा तक रोड जाम

खुटौना में बैंक हड़ताल का रहा मिलाजुला असर

खुटौना| बैंक कर्मचारियों के द्वारा हड़ताल का खुटौना में मिला जुआ असर रहा। प्रखंड बाजार में एटीएम मशीनों के शटर भी खुले रहे। हालांकि बैंक बंद होने की खबर से बाजार आदि में लोग कम नजर आए। मिली जानकारी के अनुसार भारतीय स्टेट बैंक इस हड़ताल में शामिल नहीं थे। वहीं खुटौना प्रखंड के ग्रामीण बैंक में प्रति दिन के तरह पूरे दिन लेन देन का कार्य शांतिपूर्ण ढंग से किया गया। ग्रामीण बैंक खुटौना के ब्रांच प्रबंधक रवि कुमार सिंह ने बताया कि लौकहा, दुर्गीपट्टी एवं खुटौना ब्रांच खुले थे। हालांकि हड़ताल की खबर से रोज के अपेक्षा गुरुवार को बैंक में खाताधारकों की कमी रही। एक दिन के बैंक हड़ताल से प्रखंड के ग्रामीण बैंक में करीब एक करोड़ दस लाख रुपए की लेन देन प्रभावित हो सकती है। मालूम हो कि खुटौना प्रखंड बाजार में भारतीय स्टेट बैंक, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक सहित अन्य कई बैंक की शाखा है।

हड़ताल के कारण व्यापारियों को हुई परेशानी

श्रमिक संगठनों द्वारा जारी हड़ताल के कारण गुरुवार को अनुमंडल के बैंकों में ताले झूलते रहे। निजीकरण, विलय, कॉर्पोरेटर लोन वसूली समेत अन्य मांगों को लेकर अनुमंडल में अवस्थित इलाहाबाद बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, ग्रामीण बैंक आदि में जारी हड़ताल के कारण काम काज ठप रहा। जिसके कारण लाखों रुपए राजस्व की क्षति बताई जा रही है। अचानक हुए इस हड़ताल के कारण बैंकों में दूर दराज के इलाके से आने वाले ग्राहकों को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ा। सर्वाधिक परेशानी पेंशन धारियों में देखी गई। नवम्बर माह में उन्हें पेंशन प्राप्त करने से पहले लाईफ सर्टिफिकेट देना पड़ता है। कई सेवा निवृत कर्मी इसके लिए दोपहर तक बैंक के खुलने की प्रत्याशा में इधर उधर भटकते रहे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- जिस काम के लिए आप पिछले कुछ समय से प्रयासरत थे, उस कार्य के लिए कोई उचित संपर्क मिल जाएगा। बातचीत के माध्यम से आप कई मसलों का हल व समाधान खोज लेंगे। किसी जरूरतमंद मित्र की सहायता करने से आपको...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser