पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

प्रदर्शन:पीएचसी प्रभारी और बीएमसी के खिलाफ गोलबंद हुई आशा-आशा फैसिलिटेटर

मधुबनी13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रदर्शन करती आशा कार्यकर्ता व आशा फैसिलिटेटर।
  • पीएचसी प्रभारी बोले- अनुपस्थित कर्मियों की भेजी है सीएस को रिपोर्ट, इसलिए हाे रही राजनीति

मधुबनी पीएचसी में कार्यरत आशा व आशा फैसिलेटर्स ने पीएचसी प्रभारी डा. बालेश्वर शर्मा व बीएमसी संतोष सिंह राठौर के खिलाफ रविवार को गोलबंद होकर प्रदर्शन किया। ये पीएचसी प्रभारी व बीएमसी के खिलाफ मानसिक व आर्थिक उत्पीड़न, बदजुबानी व अभद्रता का आरोप लगा रही थी। प्रखंड की सभी आशा कार्यकर्ता एवं आशा फैसिलेटर बांसी स्थित रामजानकी कुंवर व्यायामशाला के मैदान में इकट्ठी हुई, बैठक की तथा प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की।

साथ ही सिविल सर्जन, डीएम सहित अन्य पदाधिकारियों को सामूहिक आवेदन भेजकर पीएचसी प्रभारी डा. बालेश्वर शर्मा को पद से हटाने की मांग की।

पीएचसी में बैठक से आशा फैसिलेटर को अपमानित कर निकाल था

आशा फैसिलेटर रीता देवी ने बताया कि 14 अक्टूबर को वह क्षेत्र में पोलियो की खुराक पिलाने के बाद पीएचसी में होने वाले सायं कालीन बैठक में शामिल होने के लिए पहुंची तो पीएचसी प्रभारी बालेश्वर शर्मा ने आशा फैसिलेटर रीता देवी को देखकर भड़क गए एवं आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग किया।

उन्होंने बैठक कक्ष से जबरदस्ती आशा फैसिलेटर रीता देवी को बाहर निकल जाने के लिए कहा ।जब बाहर नहीं निकली तो गार्ड को उन्हें बाहर निकालने का आदेश दिया। धमकी देते हुए कहा कि जब चाहेंगे तब तुम्हे नौकरी से निकाल देंगे। उन्होंने कहा कि यह सारा मामला 14 अक्टूबर के सीसीटीवी कैमरा में कैद है। वरीय पदाधिकारी सीसीटीवी फुटेज देख सकते हैं। प्रदर्शनकारियों ने चेतावनी दी कि इनके खिलाफ अगर कार्रवाई नहीं हुई तो प्रखंड की सभी आशा व फैसिलिटेटर कार्य बहिष्कार करेंगी।

आरोप : पीएचसी प्रभारी करते हैं भेद-भाव

प्रदर्शन के दौरान आशा फैसिलेटर रीता देवी, सीमा वर्मा, रिंकू पांडे ,कमरुन नेशा एवं आशा कार्यकर्ता अनीता देवी ,आशा पांडे सहित सभी आशा कार्यकर्ताओं ने बताया कि आशा कार्यकर्ता दिन रात प्रतिकूल परिस्थियों की परवाह किए बिना वे सेवा देती रही हैं। गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देती हैं। जबकि पीएचसी प्रभारी उनके साथ भेदभाव करते रहे हैं।

बीएमसी संतोष सिंह राठौर भी उन्हें प्रताड़ित करते हैं। पोलियो अभियान के दौरान अपने कार्य को आशा एवं फैसिलेटर ईमानदारी पूर्वक काम करती रही। इसके बावजूद बीएमसी राठौर हमेशा आशा कार्यकर्ता एवं फैसिलेटर को अपमानित करते हैं। इसकी शिकायत करने पर पीएचसी प्रभारी ने कोई कदम नहीं उठाया। जिससे आशा कार्यकर्ता व फैसिलेटर काफी आहत महसूस कर रही हैं।

इनका आरोप यह भी है कि आशा कार्यकर्ता व आशा फैसिलेटर जब वे गर्भवती महिलाओं को लेकर अस्पताल में लाने के बाद जब किसी ममता या एएनएम के कमरे में बैठती हैं तो पीएचसी प्रभारी उस कमरे से उन्हें निकाल देते हैं। कई आशा कार्यकर्ताओं को अस्पताल के अंदर प्रवेश नहीं करने दिया जाता है।

पीएचसी प्रभारी बोले- मनमानी का विरोध करने पर हुई गोलबंद

पीएचसी प्रभारी डाॅ. बालेश्वर शर्मा ने इस बाबत पूछने पर कहा कि पल्स पोलियो अभियान में कई एएनएम व आशा फेसिलेटर्स के खिलाफ मनमानी के मामले सामने आए थे। इस प्रखंड में आशा फैसिलेटर ही अभियान के दौरान सुपरवाइजर का दायित्व निभाती हैं। अभियान में अनुपस्थित कर्मियों के खिलाफ इन लोगों ने कोई सूचना नहीं दी थी।

14 अक्टूबर को संध्या बैठक के दौरान उन्होंने इस बाबत पूछताछ की तो फैसिलेटर रीता देवी भड़क गई। उन्होंने वस्तुस्थिति की जानकारी सिविल सर्जन समेत वरीय अधिकारियों को दे रखी है। आशाओं के अकारण अस्पताल आने तथा मरीजों को विभिन्न दवा दुकानों या अन्य प्रतिष्ठानों पर पहुंचाने की प्रवृत्ति पर लगाम लगाने की कोशिश की है। ड्रेस कोड का पालन इन्हें नागवार लग रहा है। इसी कारण उनके खिलाफ गोलबंद हुई है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- किसी अनुभवी तथा धार्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति से मुलाकात आपकी विचारधारा में भी सकारात्मक परिवर्तन लाएगी। तथा जीवन से जुड़े प्रत्येक कार्य को करने का बेहतरीन नजरिया प्राप्त होगा। आर्थिक स्थिति म...

और पढ़ें