पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

परेशानी:शहर से निकले कचरे को डंप करने के लिए नहीं मिल रहा स्थान

मधुबनी25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कचरा डंपिंग के रास्ते को ग्रामीणों की ओर से जल निकासी के लिए काटे जाने के कारण उत्पन्न हुई समस्या
Advertisement
Advertisement

नप क्षेत्र में पार्क के लिए प्रस्तावित स्थल पर वर्षों बीतने के बावजूद भी पार्क निर्माण की योजना तक नही बन सकी, निर्माण की बात तो दूर है। वहीं समय-समय पर नप के लिए यह स्थान कचरा डंपिंग किए जाने के लिए उपयुक्त स्थान बन कर रह गया है। वर्तमान में इस स्थान पर कचरा फेंका जा रहा है। कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए भी नप ने इसपर गंभीरता से नहीं सोचा व आनन-फानन में कचरा डंपिंग के स्थान के रास्ते अवरुद्ध होने पर बीच शहर में ही कचरा डंपिंग करना शुरू कर दिया।

इसके कारण प्रभावित होने वाले लोगों के स्वास्थ्य के बारे में भी नही सोचा। जबकि इस स्थान के तीन ओर भारी आबादी का क्षेत्र है। बरसात और धूप के कारण इन कचरे से अब दुर्गन्ध फैलना शुरू हो गया है। स्थानीय लोगों में इस बात की सुगबुगाहट भी हो चुकी है। तिरहुत कॉलोनी के कई लोगों ने बताया कि वे इसके लिए अपने वार्ड पार्षद को सूचना दे चुके हैं। साथ ही अविलंब पार्षद को उक्त स्थान पर कचरा डंपिंग बंद करने व फेंके गए कचरे को शीघ्र उठवाए जाने की मांग की गई है। यदि शीघ्र इसपर नप प्रशासन से संज्ञान नहीं ली जाती है तो आगे की कार्रवाई की जाएगी।  जमीन के संरक्षक ने झाड़ा पल्ला | सिटी मैनेजर नीरज कुमार झा ने बताया कि उक्त समस्या के समाधान के लिए सोसाइटी के संरक्षक सह नप में रहे उप मुख्य पार्षद वारिस अंसारी से भी बात हुई। पर उन्होंने अपना पलड़ा झाड़ लिया है। डंपिंग यार्ड तक पहुंचने वाले एक अन्य मार्ग को इनकी ओर से मोटरेबल बनाए जाने का सलाह दिया गया। जबकि उक्त सड़क नप क्षेत्र से बाहर व ग्राम पंचायत में स्थित है। नप इस सड़क को मोटरेबल नहीं बनाया जा सकता है। वहीं संरक्षक की ओर से इस दिशा में कोई सार्थक पहल नहीं की जा रही है।

जमीन के संरक्षक को दिया जाता है प्रति महीने 5 हजार रुपए
मालूम हो कि शहर से निकले कचरे का डंपिंग नप क्षेत्र से बाहर मूसानगर में किया जाता है। नप से इस स्थान के लिए प्रतिमाह 5000 रुपया जमीन के संरक्षक को दिया जाता है। उक्त जमीन बुनकर सोसाइटी का है। नप के सिटी मैनेजर नीरज कुमार झा ने बताया कि पार्क में कचरा डंपिंग  की जानकारी होने के बाद उन्होंने सभी कर्मियों को मना कर दिया है। इस समस्या की जानकारी कार्यपालक पदाधिकारी को दे दी गई है। पर उनकी ओर से अबतक किसी प्रकार का अबतक स्पष्ट निर्देश प्राप्त नहीं हुआ है। इसलिए कुछ कहा नही जा सकता। पर समस्या बनी ही हुई है। वहीं सफाई एजेंसी मेसर्स सुभाष सिंह के ओर से भी इस संबंध में नप कार्यालय को सूचना दी गई है। प्रतिदिन शहर से 5 से 7 टन कचरा  निकलता है, और किसी छोटे से स्थान पर यदि इसका डंपिंग किया जाता है तो दो से तीन दिन में ही कचरे का पहाड़ खरा हो जाएगा।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - अपने जनसंपर्क को और अधिक मजबूत करें। इनके द्वारा आपको चमत्कारिक रूप से भावी लक्ष्य की प्राप्ति होगी। और आपके आत्म सम्मान व आत्मविश्वास में भी वृद्धि होगी। नेगेटिव- ध्यान रखें कि किसी की बात...

और पढ़ें

Advertisement