कार्यक्रम:रक्तदान शिविर में केयर इंडिया के अफसरों ने 32 यूनिट ब्लड डोनेट किया

मधुबनी13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रक्तदान करते केयर इंडिया के डीटीएल महेंद्र सिंह सोलंकी। - Dainik Bhaskar
रक्तदान करते केयर इंडिया के डीटीएल महेंद्र सिंह सोलंकी।
  • सदर अस्पताल स्थित ब्लड बैंक के सहयोग से शिविर का आयोजन किया गया

कोविड- 19 के प्रकोप को देखते हुए व रक्त की उपलब्धता सुनिश्चित करने को लेकर स्वास्थ्य विभाग की सहयोगी संस्था केयर इंडिया के डीटीएल महेंद्र सिंह सोलंकी के नेतृत्व में कर्मियों ने रक्तदान किया। ब्लड बैंक के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डाॅ. बिनोद कुमार झा ने बताया कि केयर की ओर से 32 यूनिट रक्त दान किया गया है। पूर्व से ब्लड बैंक में विभिन्न ग्रुप का 50 यूनिट रक्त उपलब्ध था। इसके साथ ही ब्लड बैंक में 82 यूनिट रक्त उपलब्ध है। केयर इंडिया ने शुक्रवार को जिला अस्पताल ब्लड बैंक के सहयोग से रक्तदान शिविर का आयोजन किया। शिविर में 32 यूनिट रक्त एकत्रित हुए। इस दौरान सरकार की ओर से जारी एडवाइजरी का पालन करते हुए स्वास्थ्यकर्मी तथा केयर इंडिया के कर्मी ने मास्क व दस्ताना पहन रखा था।

साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान रखा गया। केयर इंडिया के महेंद्र सिंह सोलंकी ने बताया कि जब भी किसी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं में सहयोग की जरूरत होती है तो केयर इंडिया हमेशा तत्परता से आगे बढ़ कर भाग लेता है। जब हमें जानकारी मिली कि सदर अस्पताल के ब्लड बैंक में रक्त कम है तो सभी केयर अधिकारियों ने खुद इसके लिए आगे आने का विचार किया। इसके बाद स्थिति की गंभीरता को देखते हुए केयर द्वारा सिविल सर्जन को पत्र के माध्यम से सूचित किया गया। सिविल सर्जन डॉ. सुनील कुमार झा ने इसपर खुशी जताते हुए केयर अधिकारियों को रक्तदान करने के लिए प्रेरित किया जिसके बाद केयर अधिकारियों ने ब्लड बैंक में रक्तदान किया। सीएस डाॅ. सुनील कुमार झा ने बताया कि ब्लड ट्रांसफ्यूजन से कोरोना के संक्रमण का खतरा नहीं है।

लोगों को भी स्वैच्छिक रक्तदान के लिए आगे आना चाहिए
रक्तदान शिविर के दौरान जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी सह ब्लड बैंक प्रभारी डॉ. विनोद कुमार झा ने कहा कि सभी ब्लड बैंक स्वैच्छिक रक्तदान पर ही निर्भर करता है। इसलिए केयर के अधिकारियों ने स्वयं आगे आकर रक्तदान करने का निर्णय लिया। इससे ब्लड बैंक में रक्त की उपलब्धता सुनिश्चित हुई। उन्होंने कहा लोग कोरोना के साथ-साथ अन्य बीमारियों से भी परेशान हैं और लोगों को रक्त की जरूरत हो रही है। इसलिये ब्लड बैंक में रक्त का होना जरूरी है। ब्लड ट्रांसफ्यूजन से कोरोना के संक्रमण का खतरा नहीं होता है। इसलिए लोगों को भी स्वैच्छिक रक्तदान के लिए आगे आना चाहिए जिससे कि किसी जरूरतमन्द के लिए रक्त की कमी की समस्या न उत्पन्न हो। ब्लड बैंक के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डाॅ. बिनोद कुमार झा ने बताया कि ब्लड डोनेशन के दौरान ब्लड बैंक में सामाजिक दूरी का भी ध्यान रखा गया। ब्लड बैंक में हेल्थ वर्कर्स द्वारा संक्रमण रोकथाम के लिए हाथों की सफाई, मास्क, ग्लब्स एवं कैप का इस्तेमाल किया गया। साथ ही इस्तेमाल के बाद मास्क, ग्लब्स एवं कैप को सुरक्षित रूप से डिस्पोज भी किया गया। मौके पर संचारी रोग पदाधिकारी डॉक्टर जीएम ठाकुर, केयर इंडिया के डीटीएल महेंद्र सिंह सोलंकी, प्रखंड प्रबंधक अमित कुमार विपुल तथा अन्य कर्मी उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...