पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मांग:दवा भंडार कक्ष से पोस्टमाॅर्टम संबंधी काम को शिफ्ट करने की मांग की गई

मधुबनी12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक ही कक्ष में अभी तीन कामाें का निपटारा किया जाता है

एम्बीसम इंजेक्शन के गायब होने के मामले में फार्मासिस्टों की गिरफ्तारी व अन्य के विरूद्ध हुई कार्रवाई के बाद सदर अस्पताल के दवा भंडार से इंज्यूरी व पोस्टमार्टम संबंधी कार्यों को दूसरे कक्ष में शिफ्ट करने की मांग तेज होती जा रही है। मालूम हो कि एक ही कक्ष में तीनों कार्यों का निपटारा होता है जिस वजह से चिकित्सकों, एएनएम, जीएनएम, पोस्टमार्टम रिपोर्ट लेने पहुंचे चौकीदार व पुलिसकर्मी के साथ साथ कई चतुर्थ वर्गीय कर्मचारियों व बाहरी लोगों का भी आना जाना लगा रहता है।

नागरिक अधिकार मंच के जिला संयोजक प्रो. अमरेश श्रीवास्तव ने मांग किया कि बाहरी लोगों के प्रवेश पर पूरी तरह से रोक रहनी चाहिए साथ ही सीसीटीवी की भी व्यवस्था रहनी चाहिए ताकि फिर से इस तरह की घटना घटित ना हो। इधर स्वास्थयकर्मियों से मिली जानकारी के अनुसार रविवार होने की की वजह से जिन फार्मासिस्ट को निलंबित फार्मासिस्ट की जगह पदस्थापित किया गया है उनलोगों ने प्रभार नहीं लिया था। इंज्यूरी व दवा भंडार का काम जैनेंद्र माधव को दिया गया है जबकि अमलेंदू कुमार को पोस्टमार्टम का। इधर फार्मासिस्ट के नहीं रहने के कारण रविवार को पोस्टमार्टम की जानकारी आदि कागजी कार्यों के दौरान कुछ परेशानी भी हुई। सिविल सर्जन डा. सुनील कुमार झा ने बताया कि दवा भंडार में बाहरी व बिना कार्य के स्वास्थ्यकर्मी के प्रवेश पर रोक लगाने के लिए सदर अस्पताल के प्रभारी अधीक्षक व अस्पताल प्रबंधक को निर्देश दिया जा रहा है। साथ ही सीसीटीवी जहाँ कहीं भी खराब है उसे भी दुरूस्त करने का निर्देश पूर्व में ही दिया जा चुका है।

खबरें और भी हैं...