प्रतिनियोजन:प्रखंड में नियमों को ताक पर रखकर शिक्षकों का किया गया प्रतिनियोजन

मधुबनीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रखंड क्षेत्र में नियमों को ताख पर रख कर शिक्षको का प्रतिनियोजन किया गया है। उक्त मामले को लेकर गुरुवार को बासोपट्टी पूर्वी पंचायत के नवनिर्वाचित मुखिया मदन पासवान , पंचायत समिति सदस्य ज्योति कुमारी सहित अन्य बुद्धिजीवियों ने बैठक कर चिंता व्यक्त करते हुए शिक्षा विभाग के खिलाफ रोष व्यक्त किया। मुखिया ने कहा कि विगत 5 वर्षों से पूरे प्रखंड में शिक्षा का स्तर बहुत नीचे गिर गया है। विद्यालय में शैक्षणिक कार्य नही के बराबर हो रहा है। कई विद्यालय ऐसा है जो शिक्षकों की कमी से भी जूझ रहा है।

बावजूद अधिकारियों के सांठगांठ से नियम से विपरीत करीब दो दर्जन शिक्षकों का प्रतिनियोजन उनके मूल विद्यालय से दूसरे विद्यालय में किया गया है। इतना ही नही कुछ ऐसे भी शिक्षिका है जिनका प्रतिनियोजन अपने प्रखंड से दूसरे प्रखंड में किया गया है। वहीं नवनिर्वाचित पंसस ज्योति कुमारी ने बताया कि पुरे राज्य में शिक्षको का प्रतिनियोजन विद्यालयो में बंद है। शिक्षको को सिर्फ चुनाव कार्य,जनगणना व आपदा जैसे कार्य के लिए प्रतिनियोजन किया जा सकता है। साथ ही उनका प्रतिनियोजन वैसी परिस्थितियों में मूल विद्यालय से दूसरे विद्यालय में किया जा सकता है।

जब प्रतिनियोजन वाले नामित विद्यालय में शिक्षक नहीं हो। लेकीन प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी के द्वारा प्रखंड के कई विद्यालयो में दर्जनों शिक्षक का प्रतिनियोजन शैक्षणिक कार्य के लिए किया गया है।प्रतिनियोजन में सबसे ज्यादा सोचने वाली बात यह है कि जिस विद्यालय में बच्चों की उपस्थिति नाम मात्र रहता है। वैसे विद्यालयो में शिक्षक का प्रतिनियोजन कर दिया गया है। जिसमे पहले से ही चार शिक्षक कार्यरत है। उक्त मामले पर जनप्रतिनिधियों ने बताया कि इसको लेकर प्राथमिक शिक्षा निदेशक व सरकार के पास कार्रवाई के लिए पत्र लिखा जाएगा। उक्त मामले पर प्रभारी बीईओ पूनम कुमारी ने बताया कि में अभी कुछ महीनों पहले ही बासोपट्टी के प्रभार में आई हूं। वर्तमान में अभी चुनाव ड्यूटी में हूँ। उक्त मामले की जानकारी लेकर अभिलम्भ कार्रवाई किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...