मांग जारी / वित्तरहित शिक्षक ने बकाया अनुदान देने की मांग की

X

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

मधुबनी. बिहार सरकार ने वित्तरहित शिक्षक व शिक्षकेत्तर कर्मचारियों का दो सत्र का बकाया अनुदान राशि निर्गत करने का वादा किया था। बिहार सरकार ने कहा था कि मार्च 2020 के अंत तक बकाया दो सत्र का अनुदान दे दिया जाएगा। परंतु अभी तक एक सत्र का भी अनुदान वित्तरहित शिक्षकों व शिक्षकेत्तर कर्मचारियों को प्राप्त नहीं हो सका है। इस संबंध में बेनीपट्टी के डॉ. एनसी कॉलेज, एससी महिला कॉलेज, पीडीसीपी इंटर कॉलेज बसैठ आदि वित्तरहित कॉलेजों के प्रो. भवानंद झा, प्रो. रामनारायण झा, प्रो. मदन कुमार कर्ण, प्रो. कमलेश्वर ठाकुर, डॉ. बागीशकांत झा, प्रो. मुनीश्वर झा, मोहन कुमार आदि ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि ऊपर से सरकार द्वारा मूल्यांकन कार्यों का बहिष्कार करने वाले 151 परीक्षकों पर एफआईआर दर्ज कर दिया गया है। साथ ही केवल मधुबनी जिला के सभी वित्तरहित कॉलेजों के अनुदान पर रोक लगा दिया गया है जो न्यायसंगत बात नहीं है। वैश्विक महामारी नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण के इस संकटकालीन समय में हम सभी वित्तरहित शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारी दाने-दाने को मोहताज हो रहे हैं परंतु, एक बिहार सरकार है कि उनलोगों को बकाया अनुदान राशि नहीं दे रही है। वित्तरहित शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारियों ने अविलंब ही बिहार सरकार से दो सत्रों का बकाया अनुदान देने की जोरदार मांग जारी की है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना