परेशानी:सार्वजनिक सुलभ शौचालय नहीं होने से लाेगाें काे हाेती है परेशानी

मधुबनी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मधेपुर बस स्टैंड स्थित क्षतिग्रस्त शौचालय और चापाकल। - Dainik Bhaskar
मधेपुर बस स्टैंड स्थित क्षतिग्रस्त शौचालय और चापाकल।
  • जिप सदस्य ने कहा : मधेपुर न्यू बस स्टैंड में शाैचालय के निर्माण के लिए जारी है प्रयास

मधेपुर प्रखंड मुख्यालय में महिलाओं के लिए सार्वजनिक सुलभ शौचालय की घोर कमी है। बस स्टैंड में हजारों महिला यात्री प्रतिदिन पहुंचती हैं। लेकिन यहां मां, बहनों के लिए सार्वजनिक पेशाब घर व शौचालय की कहीं कोई व्यवस्था नहीं है। जबकि यहां की विधायक महिला, जिला पार्षद महिला, प्रखंड प्रमुख महिला, मुखिया महिला, सरपंच महिला, पंचायत समिति सदस्य महिला और बीडीओ भी महिला ही हैं। फिर भी महिलाओं की व्यथा समझने वाला कोई नहीं है। मधेपुर पहुंचने वाली मां-बहनें लोक-लाज त्याग कर सड़क किनारे बैठने को मजबूर रहती हैं।

विशेष परिस्थिति में स्थानीय वाशिंदों के घर का दरवाजा खटखटाने को विवश हो जाती हैं। मधेपुर बाजार, बैंक, बस स्टैंड, प्रखंड कार्यालय सहित अन्य कार्यों से मधेपुर पहुंचने वाली महिलाओं के लिए कहीं भी सुलभ शौचालय की व्यवस्था नहीं है। कोसी, कमला क्षेत्र सहित दरभंगा, सहरसा और सुपौल जिले के निकटवर्ती प्रखंड क्षेत्रों से प्रतिदिन हजारों महिलाएं मधेपुर आती हैं। फुलपरास विधानसभा क्षेत्र का हृदय स्थली मधेपुर है। यहां की विधायक शीला कुमारी बिहार सरकार में परिवहन मंत्री हैं। प्रखंड प्रमुख लक्ष्मी देवी, जिला पार्षद अनिता देवी, मधेपुर पश्चिमी की मुखिया सबिला खातून, सरपंच मीना खातून, पंचायत समिति सदस्य संजीदा खातून, प्रखंड विकास दाधिकारी अर्चना कुमारी अाैर बाल विकास परियोजना पदाधिकारी सुनीता कुमारी हैं।

राजनीतिक एवं प्रशासनिक दृष्टिकोण से महिलाएं स्थानीय शीर्षस्थ पदों पर विराजमान हैं। लेकिन यहां की महिलाओं का दुर्भाग्य है कि उनकी सुविधा के लिए कहीं कोई समुचित व्यवस्था नहीं की गई है। मधेपुर न्यू बस स्टैंड में तत्कालीन विधायक जगत नारायण सिंह ने अपने ऐच्छिक कोष से दो कमरे के सुलभ शौचालय निर्माण करवाया था। शौचालय के आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त होने पर स्थानीय वाशिंदे द्वारा उसे जबरन अधिग्रहित कर लिया गया है। इस बाबत जिप सदस्या सह भाजपा नेत्री अनिता यादव ने बताया कि मधेपुर न्यू बस स्टैंड में बस यात्रियों के लिए शौचालय निर्माण करवाना परिवहन विभाग की जिम्मेदारी है। उन्होंने बताया कि क्षेत्रीय विधायक सह सूबे की परिवहन मंत्री शीला कुमारी मधेपुर बस स्टैंड में शौचालय निर्माण करवाने के लिए प्रयत्नशील हैं।

खबरें और भी हैं...