लॉकडाउन का असर / लॉकडाउन को लेकर पहली बार ईदगाह में नहीं अदा की जाएगी ईद की नमाज

X

  • कोरोना के चलते बाजार में सन्नाटा पसरा रहा

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

मधुबनी. मुकद्दस रमजान का पाक महीना समाप्त होने को है। रोजेदारों का माहे रमजान पूरा रोजा लॉकडाउन के पालन के साथ गुजरा। मुकद्दस रमजान का पाक महीना रविवार को समाप्त हो जाएगा। पहली बार ईदगाह में ईद की नमाज नहीं पढ़ी जाएगी। इसके साथ ही एक माह से चल रहा महा पर्व रमजान के बाद ईद भी मनाया जाएगा। इसे बड़ा ही मुबारक और बरकतों का महीना कहा जाता है। इस पाक महीने में अल्लाह ताला अपनी रहमतों के दरवाजे बंदों के लिए खोल देते हैं। इन दिनों में कुरआन की तिलावत करना, नमाजें पढ़ना रोजे रखना, जरूरतमंदों की मदद करना सवाब को कई गुणा बढ़ा देता है। पर रोजेदारों का माहे रमजान का पहला से आखिरी दिन तक लॉकडाउन के पालन के साथ गुजरा। हर बार रमजान माह में खरीदारी के लिए भारी भीड़ उमड़ती थी। पर इस बार कोरोना के चलते पहले दिन बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा। यह सिलसिला लॉकडाउन तक जारी रहेंगे। मो. अजमत ने बताया कि सरकारी आदेशों के अनुसार शारीरिक दूरी का पालन करते हुए रमजान के पहले दिन से मस्जिदों में रोजेदारों की भीड़ नहीं दिखी। ऐसा पहली बार हुआ है, जब रमजान के दिनों में मस्जिदों से रोजेदार नदारद दिखे। मो. शमशाद अहमद ने बताया कि मजहब-ए-इस्लाम में रमजान का असल मकसद ही लॉकडाउन है। रमजान में जो मोमिन रोजे रखता है, उसे अपनी जिस्मानी रूहानी व अन्य ख्वासियों पर पाबंदी लगानी पड़ती हैं।  
शिक्षकाें ने की दोषी अधिकारियों व कर्मियों पर कार्रवाई की मांग
मधवापुर|रमजान एवं ईद पर्व को देखते हुए राज्य सरकार,वित्त विभाग एवं शिक्षा विभाग ने नियोजित शिक्षकों के अप्रैल एवं मई महीने के वेतन भुगतान का आदेश सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी को दी थी। आनन-फानन में सभी प्रखंडों से वेतन विपत्र भी मंगाए गए। लेकिन सरकार के आदेश को डीपीओ स्थापना एवं उनके कर्मियों द्वारा अनसुनी कर ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ (मूल)के अध्यक्ष वारिस अंसारी, बिहार पंचायत प्रारंभिक शिक्षक संघ के सचिव मोजिबुर रहमान सहित दर्जनों शिक्षकों ने वेतन भुगतान में लापरवाही बरतने वाले अधिकारी एवं कर्मियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है।  

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना