निर्देश:फैमिली प्लानिंग लॉजिस्टिक मैनेजमेंट इंफॉर्मेशन सिस्टम को किया जाएगा सुदृढ़, निर्देश जारी हुआ

मधुबनी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • परिवार नियोजन के लिए गर्भनिरोधक साधनों की आपूर्ति और खपत ऑनलाइन की जाएगी

जिले के स्वास्थ्य केंद्र में एफपीएलएमआईएस (फैमिली प्लानिंग लॉजिस्टिक मैनेजमेंट इन्फॉर्मेशन सिस्टम) को सुदृढ़ किया जाएगा व परिवार नियोजन कार्यक्रम अंतर्गत सभी गर्भनिरोधक सामग्रियों का सप्लाई चेन मैनेजमेंट एफपीएलएमआईएस के माध्यम से ही किया जाएगा। सप्लाई चेन मैनेजमेंट को सुव्यवस्थित करने एवं राज्य स्तर से आशा स्तर तक परिवार नियोजन कार्यक्रम अंतर्गत गर्भनिरोधक सामग्रियों के निर्बाध उपलब्धता को सुदृढ़ करने के उद्देश्य एफपीएलएमआईएस एप्लीकेशन को सुदृढ़ किया जाना है। जिला स्तर पर एफपीएलएमआईएस एप्लीकेशन के बेहतर संचालन से परिवार नियोजन सामग्रियों की आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन को सुदृढ़ करने एवं गर्भनिरोधक कुशल वितरण में सहायता प्राप्त होगी तथा परिवार नियोजन कार्यक्रम को बढ़ावा मिलेगा। कार्यक्रम के सफल संचालन के लिए राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार ने सिविल सर्जन को पत्र लिखकर आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया है।

जारी पत्र में कहा गया है कि स्वास्थ्य दवा भंडार में कार्यरत कर्मी तथा फर्मासिस्ट, भंडार पाल एवं डाटा एंट्री ऑपरेटर जो पूर्व से जिला प्रखंड तथा अन्य स्वास्थ्य संस्थानों पर डीवीडीएमएस औषधि का कार्य कर रहे हैं उन्हें एफपीएलएमआईएस एप्लीकेशन के क्रियान्वयन से संबंध करने का निर्देश दिया है तथा कर्मियों को पूर्व से आवंटित कार्य के साथ एफपीएलएमआईएस एप्लीकेशन के संचालन के कार्य का दायित्व देने का निर्देश दिया है। जिला सामुदायिक उत्प्रेरक नवीन दास ने बताया जिले की आशा को परिवार कल्याण कार्यक्रम में और सुदृढ करने के लिए ब्लाॅक स्तरीय प्रशिक्षण दिया गया है।

जिला से उपस्वास्थ्य केंद्र तक हो रही है आपूर्ति

प्रशिक्षण में शादी की सही उम्र, पोषण, परिवार कल्याण में आशाओं की भूमिका, परिवार कल्याण के साधनों, उनके प्रकार, साधनों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है। परिवार नियोजन के गर्भनिरोधक साधनों की आपूर्ति व खपत की जानकारी फैमिली प्लानिंग लॉजिस्टिक मैनेजमेंट इन्फॉर्मेशन सिस्टम की वेबसाइट पर ऑनलाइन करना है। अगर लैपटॉप नहीं है तो मोबाइल एप के माध्यम से भी साधनों की डिमांड की जा सकती है। अब किसी भी तरह के साधनों की ऑफलाइन आपूर्ति (सप्लाई) नहीं की जाएगी। ऑनलाइन मांग के बाद साधनों की उपलब्धता जिले स्तर पर हो जाएगी। इस आपूर्ति के एक सप्ताह के अंदर प्रखंड एवं जिला स्तर पर इसकी सप्लाई हो जाएगी। परिवार नियोजन के गर्भ-निरोधक साधनों की नियमित आपूर्ति जिलास्तर से लेकर उप-स्वास्थ्य केंद्र व आशा तक की जा रही है।

खबरें और भी हैं...