पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खेती-किसानी:जिले में मूली की खेती कर किसान आसानी से बढ़ा सकते हैं अपनी आमदनी, कम लागत के बावजूद होगा अधिक मुनाफा

मधुबनी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मिट्टी विशेषज्ञ ने कहा- अच्छी पैदावार के लिए वैज्ञानिक विधि से खेती करना अत्यंत आवश्यक है

अभी आलू की खेती के साथ किसान मूली की भी खेती करते हैं। मूली की खेती कर किसान ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं। कृषि व मिट्टी विशेषज्ञ राजेश कुमार सिंह ने बताया कि मूली एक ऐसी फसल है जिससे किसान कम समय में अधिक कमाई कर सकते हंै। मूली की अच्छी पैदावार लेने के लिए वैज्ञानिक तरीके से खेती करना जरूरी है। मूली एक खाद्य जड़ वाली सब्जी है जो जल्दी उगने वाली और सदाबहार फसल है। मूली विटामिन बी, कैल्शियम, कॉपर, मैग्नीश्यिम, रिबोफलेविन, एसकॉर्बिक एसिड, फॉलिक एसिड आदि का मुख्य स्रोत है। यह कम खर्च में अधिक उत्पादन देने वाली उत्तम फसल है। मूली का सेवन लिवर और पीलिया के मरीजों के लिए फायदेमंद है। मूली की खेती के लिए ठंडी जलवायु उपयुक्त होती है। मूली की खेती के लिए 10-15 डिग्री सेल्सियस तापमान सर्वोत्तम माना गया है।

दो महीने में ही 105 क्विंटल प्रति एकड़ तक होगी पैदावार

मूली की पूसा चेतकी किस्म अप्रैल-अगस्त में बोने के लिए अनुकूल है। यह जल्दी पकने वाली किस्म नर्म, बर्फ जैसी सफेद और मध्यम लंबी होती है। इसकी औसतन पैदावार 105 क्विंटल प्रति एकड़ है। ग्रीष्म और वर्षा ऋतु के लिए ये किस्म उपयुक्त है। वहीं पूसा हिमानी की बुआई जनवरी-फरवरी महीने में होती है। बुआई के बाद यह किस्म 60-65 दिनों में कटाई के लिए तैयार हो जाती है। पूसा रेशमी अगेती किस्म की मूली है जाे मात्र 50-60 दिनों में ही तैयार हो जाती है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- जिस काम के लिए आप पिछले कुछ समय से प्रयासरत थे, उस कार्य के लिए कोई उचित संपर्क मिल जाएगा। बातचीत के माध्यम से आप कई मसलों का हल व समाधान खोज लेंगे। किसी जरूरतमंद मित्र की सहायता करने से आपको...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser