पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाह है प्रशासन:कोरोना गाइडलाइन की उड़ रही धज्जियां, लापरवाह है प्रशासन

मधुबनी13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना संक्रमण के चैन को तोड़ने के लिए सरकार के द्वारा जारी गाइडलाइन की धज्जियां प्रखंड क्षेत्र में जमकर उड़ाई जाती है। शाम चार बजे के बाद दुकानें खुली रहना या नाइट कर्फ्यू के बाद सड़क पर छोटे-बड़े वाहनों आवाजाही या लोगों का मटर गश्ती करना आम सी बात है। सरकारी आदेशों का अनुपालन कराने को लेकर प्रसाशन भी गंभीर नजर नहीं आ रहे है। जबकि सरकार के द्वारा कोरोना संक्रमण में हो रहे अप्रत्याशित बृद्धि को देखते हुए भीड़ को कम करने के दृष्टिगत दुकानों एवं प्रतिष्ठानों को तीन श्रेणियों में बांट कर तिथियों का निर्धारण कर दुकान व प्रतिष्ठान खोलने का आदेश निर्गत किया गया। लेकिन सरकारी आदेशों का ठेंगा दिखाते हुए दुकानदार पूर्व की तरह अपनी दुकान खोलते है।

श्रेणी एक को छोड़कर श्रेणी 2 के तहत सोमवार, बुधवार व शुक्रवार को इलेक्ट्रिकल गुड्स, पंखा, कूलर, एयरकंडीशनर विक्रय तथा मरम्मती, मोबाइल, कम्प्यूटर, लैपटॉप, यूपीएस एवं बैट्री, सैलून पार्लर , फर्नीचर की दुकान व सोना-चांदी की दुकानें खोलने का आदेश निर्गत किया गया। वहीं श्रेणी 3 के तहत मंगलवार, गुरुवार, शनिवार को कपड़ा दुकान, बर्तन, जूता-चप्पल की दुकान, स्पोर्ट्स, ड्राइक्लिनर्स, कृषि कार्य यंत्र से जुड़े दुकान या प्रतिष्ठान खोलने का आदेश दिया गया। इसके साथ ही निर्धारित दिवसों को संध्या चार बजे तक ही खोलने का आदेश दिया गया। बावजूद प्रखंड क्षेत्र में श्रेणी 3 के तहत खोले जानेवाली दुकान कपड़ा ,बर्तन ,जूता चप्पल आदि दुकानें खुली रही। सरकार के द्वारा उक्त आदेशों को दृढ़तापूर्वक अनुपालन कराने को लेकर जिलाधिकारी के द्वारा प्रखंड स्तर के संबंधित पदाधिकारी को आदेश निर्गत की गई।लेकिन प्रखंड प्रशासन भी इस आदेशों के प्रति बेपरवाह बनी हुई। दुकानों का खुलना या चौक-चैराहे पर भीड़-भाड़ रहना वो भी बिना मास्क के लोगों को घूमना आमसी बात है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें