विडंबना / वर्षों से बदहाल साहरघाट बौरहर आरईओ पथ, जान जोखिम में डालकर सफर करने को विवश हैं प्रतिदिन हजारों राहगीर

For years, it has been difficult to travel on the path of Saharghat Bauhar REO, risking life and thousands of passersby every day.
X
For years, it has been difficult to travel on the path of Saharghat Bauhar REO, risking life and thousands of passersby every day.

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

मधुबनी. निर्माण में बरती गयी तकनीकी अनियमितता के कारण साहरघाट-बौरहर आरईओ पथ वर्षों से बदहाल है। हल्की, बूंदाबांदी में भी यह सड़क थाल कादो से पट जाती है। जिसके कारण इस पर पांव पैदल, साइकिल, बाइक, ऑटो, कार आदि से सफर करना खतरे से खाली नहीं है। जबकि सुखाड़ के समय में गड्ढे में तब्दील यह सड़क धूल धूसरित बनी रहती है। जिसके कारण उस समय भी लोग जान जोखिम में डालकर ही इस पथ पर सफर करने को विवश रहते हैं। एक तरफ यह प्रखंडवासियों के लिए मुख्य पथ एसएच 75, एनएच 104 सहित प्रखंड, अनुमंडल, जिला व प्रमंडल मुख्यालय को जोड़ने वाली मात्र एक सड़क है।

वहीं, दो प्रखंड के दर्जनों गांव को जोड़ने वाली सबसे महत्वपूर्ण सड़क है। जिसके कारण अहले सुबह से देर रात तक इसपर हर तरह के चार पहिया व भारी मालवाहक वाहनों का परिचालन जारी रहता है। चाहकर भी इस इलाके के लोगों के लिए किसी दूसरे पथ से सफर करना मुमकिन नहीं है। निर्माण के साथ ही यह पथ जगह जगह उखड़ने लगा था। उस समय न तो किसी जनप्रतिनिधि व तकनीकी तथा प्रशासनिक अधिकारियों ने ध्यान दिया और ना विभागीय शीर्ष अधिकारी गंभीर हुए।

जिस कारण गत सात आठ वर्षों से इलाके के दर्जनों गांव के हजारों लोग व राहगीर जलालत भरी जिंदगी जीने को विवश हैं। आठ किमी की यह पूरी सड़क गढ्ढे में तब्दील है। राहगीरों के लिए सड़क में गड्ढा है या गड्ढे में सड़क यह अनुमान लगाना मुश्किल हो गया है। बरसात के दिनों में जगह जगह लंबी दूरी में कीचड़ रहने के कारण बाइक सवार को भी एक दूसरी दिशा से आने वाले चालकों को साइड देने के लिए इंतजार करना पड़ता है। साहरघाट, बाड़ा टोल, सोनई, महुआ, सिम्हली, लोमा, मंगरहठा, हिसार, बौरहर, जिरौल, हरसुवार, खिरहर, मनपौर सहित दर्जनों गांव के हजारों लोग रैमा मुखियापट्टी गांव होकर साइकिल, पैदल, बाइक, ऑटो व चार पहिया से साहरघाट बाजार खरीददारी करने आते जाते हैं।

इस पथ से आने जाने में कई तरह की फजीहत राहगीरों को झेलनी पड़ती है। गत तीन दिनों से एक ट्रक फंसा हुआ था जिसे मंगलवार को निकाला गया है। अबतक इस पथ में दर्जनों लोग दुर्घटना के शिकार हो चुके हैं। कांग्रेस के हरलाखी विधान सभा के पूर्व प्रत्याशी मो.शब्बीर अहमद, सुबोध मंडल, अभिषेक कुमार झा, अध्यक्ष शिवचंद्र झा, रामउदार यादव, पीतांबर मिश्र, लालू प्रसाद यादव, अखिलेश कुमार झा, रविंद्र नाथ झा सहित कई लोगों ने जिला प्रशासन जे जल्द सड़क के मरम्मत कराने की मांग की है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना