मिली सौगात / एक जून से जयनगर से अमृतसर जाने वाली ट्रेन भी समय पर इलेक्ट्रिक इंजन से खुलेगी

From June 1, trains going from Jayanagar to Amritsar will also open on time with an electric engine.
X
From June 1, trains going from Jayanagar to Amritsar will also open on time with an electric engine.

दैनिक भास्कर

May 31, 2020, 05:00 AM IST

मधुबनी. लॉकडाउन में मिथिलांचल वासियों के लिये रेलवे ने एक सौगात लेकर आयी है। लंबे इंतजार के बाद शनिवार से समस्तीपुर दरभंगा जयनगर रेलखंड पर इलेक्टिक इंजन वाली ट्रेन की परिचालन शुरू हो गई है। करीब 20 बोगी वाली खाली एवं बन्द रैक इलेक्ट्रिक इंजन के माध्यम से ही जयनगर पहुंची है। मधुबनी आने वाली श्रमिक ट्रेन भी मेंटिनेंस के लिए इलेक्ट्रिक इंजन के द्वारा ही जयनगर पहुंचती है। कुछ माह पूर्व ही जयनगर दरभंगा रेलखंड पर  ट्रायल पूरी कर ली गई थी।

21 मार्च को रेलवे की वरीय अधिकारी इस रेलखंड का निरीक्षण किये थे। और जल्द ही इस रेलखंड पर इलेक्ट्रॉनिक इंजन दौड़ने की बात कही थी। लेकिन लॉक डाउन के कारण रेल परिचालन बन्द थी। सीडब्लूएस राम कुमार राय ने जानकारी देते हुए बताया कि एक जून से जयनगर से अमृतसर जाने वाली शहीद ट्रेन भी अपने निर्धारित समय पर इलेक्ट्रिक इंजन के द्वारा खुलेगी। अब आप और डाउन ट्रेने की परिचालन इलेक्ट्रिक इंजन के द्वारा ही होगी। ज्ञात है की पूर्व में जयनगर दरभंगा रेलखंड पर डीजल इंजन दौड़ती थी।

लेकिन लॉक डाउन 4.0 में ही इलेक्ट्रिक इंजन के द्वारा ट्रेन परिचालन शुरू कर दी गई है। फिलहाल इलेक्ट्रिक इंजन के माध्यम से खाली एवं बन्द ट्रैक ही जयनगर पहुंची है। रेल प्रशासन ने बताया की खाली ट्रैक के परिचालन पूर्ण रूप से सफल रही है। अब जो भी ट्रेन इस रेलखंड पर दौड़ेगी वह इलेक्ट्रिक इंजन वाली होगी। इससे ट्रेन की स्पीड जहां बढ़ जाएगी वही कम समय मे यात्री अपनी सफर पूरा कर सकेंगे। ट्रेन की लेटलतीफ वाली समस्याएं दूर हो जाएंगी। रेलखंड की विद्युतीकरण हो जाने से सबसे बड़ा फायदा ऊर्जा की बचत होगी। दूसरे देश से आने वाली डीजल पर निर्भर नहीं रहनी होगी। पॉल्यूशन नियंत्रण के साथ साथ समय की बचत होगी। इसके अलावा हर ट्रेन की गति करीब 20 से 30 फीसदी बढ़ जाएगी। जिसके कारण यात्रियों को सहूलियत मिलेगी। 
लोगों की समय की बचत के साथ-साथ लेटलतीफी वाली समस्याएं दूर होंगी
जयनगर दरभंगा समस्तीपुर रेलखंड पर इलेक्ट्रिक इंजन चलने को लेकर जयनगर बॉर्डर क्षेत्रो में हर्ष का माहौल है। नवीन राउत, चंद्रमोहन सिंह, अरुण जैन, अनिल बैरोलिया,विमल यादव, घनश्याम राउत, चन्द्रवीर सिंह समेत अन्य ने बताया की इलेक्ट्रिक इंजन शुरू हो जाने से लोगों को समय की बचत के साथ साथ लेटलतीफी वाली समस्याएं दूर हो जाएगी। रेलवे में भी तेजी से हो रही विकास देश के लिये अच्छी बात है।  जयनगर जनकपुर (नेपाल)  रेलखंड पर भी ट्रेन सेवा जल्द शुरू होने वाली है। इससे मिथिलांचल में चहुंमुखी विकास होगा।
कहते हैं अधिकारी  
स्टेशन सुप्रीटेंडेंट राजेश मोहन मलिक एवं सिडब्लूएस राम कुमार राय ने संयुक्त रूप से बताया कि जयनगर समस्तीपुर रेलखण्ड पर इलेक्ट्रिक इंजन से ट्रेनों का परिचालन शुरू हो गया है। खाली व बन्द रैक इलेक्ट्रिक इंजन द्वारा जयनगर आयी है। अपने अधीनस्थ अधिकारियों एवं कर्मचारियों को  संदेश दे दिया गया है की  सावधानियां बरती जाएं एवं कर्षण  नियमावली तथा पीवे मैनुअल के अनुसार ब्लॉक लेकर कोई भी काम करे । यदि कोई व्यक्ति अनधिकृत रूप से ट्रेन के छत पर या पावदान  से लटकता हुआ पाया जाता है। तो इसकी सूचना शीघ्र ही कंट्रोल तथा आरपीएफ को करे। ताकि समय रहते कार्रवाई किया जा सके।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना