खुशखबरी:जिले को आरटीपीसीआर लैब, अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र और एएनएम स्कूल की सौगात, जिले में ही अब हर तरह के सैंपल की जांच होगी

मधुबनीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया उद्घाटन, मौजूद रहे वरीय अधिकारी

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की 3 परियोजनाओं का वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से उद्घाटन किया। उद्घाटन राज्य स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण संस्थान, शेखपुरा, पटना के परिसर से किया गया। वहीं, कलेक्ट्रेट स्थित एनआईसी में जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के वरीय पदाधिकारी इस दौरान मौजूद थे। इसकी जानकारी देते हुए सिविल सर्जन डाॅ. सुनील कुमार झा ने बताया कि मुख्यमंत्री के द्वारा 6.30 करोड़ की लागत से बने फुलपरास एएनएम स्कूल, 81 लाख की लागत से रामपट्टी में बने आरटीपीसीआर लैब व 1.65 करोड़ की लागत से नरपत नगर में बने अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र का रिमोट के माध्यम से उद्घाटन किया गया। अब जिले में आरटीपीसीआर जांच होने लगेगी। जिला मुख्यालय के रामपट्टी स्थित पारा मेडिकल कॉलेज में आरटीपीसीआर लैब के लिए बीएमएसआईसीएल द्वारा लैब की आधारभूत संरचना तैयार की गई थी।

सैंपल को जांच के लिए आरएमआई, पटना नहीं भेजना पड़ेगा

जिले में आरटीपीसीआर जांच सुविधा शुरू होने के बाद किसी भी प्रकार के सैंपल को परीक्षण के लिए मधुबनी मेडिकल कॉलेज तथा आरएमआई पटना नहीं भेजना पड़ेगा। एनआईसी में कार्यक्रम का आयोजन हुअा।
जांच की रिपोर्ट मिलने में अब काफी सहूलियत होगी

आरटी-पीसीआर मशीन लग जाने के बाद अब जांच रिपोर्ट के लिए लोगों को ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। वर्तमान में आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट आने में तीन से चार दिन का समय लग जाता है। लैब शुरू हो जाने से 12 घंटे के अंदर जांच रिपोर्ट उपलब्ध हो जाएगी। सिविल सर्जन डॉ. सुनील कुमार झा ने बताया कि आरटीपीसीआर जांच कोरोना की अंतिम जांच होती है।

खबरें और भी हैं...