समस्या बनती जा रही है / नियमित शिक्षकों के प्रति सरकार उदासीन : महादेव

X

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

मधुबनी. जिले के नियमित शिक्षकों के प्रति सरकार की उदासीनता गंभीर समस्या बनती जा रही है। विभाग के मनमानेपन के कारण ये शिक्षक प्रतिदिन विभिन्न प्रकार की समस्याओं से जूझते नजर आ रहे हैं। एक ओर जहां इन शिक्षकों के समक्ष सदैव वेतन के लाले रहते हैं तो दूसरी ओर इन्हें प्रोन्नति का लाभ देकर विभाग द्वारा वापस ले लिया जाता है। उक्त बातें जिला प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष सूर्य नारायण यादव व प्रधान सचिव महादेव मिश्र ने बयान जारी कर कहा है। इन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग के संयुक्त सचिव व निदेशक(प्रा.शि) द्वारा प्रारंभिक विद्यालयों में कार्यरत उच्च योग्यताधारी अप्रशिक्षित शिक्षकों को “मैट्रिक प्रशिक्षित मूल पद पर नियुक्ति के समय प्रशिक्षित वेतनमान प्राप्त करने के फलस्वरूप उन्हें 12 वर्षों की स्वच्छ सेवा के उपरान्त प्रशिक्षित वरीय वेतनमान प्राप्त होने का आदेश पूर्व में ही दिया था।  ऐसे शिक्षकों के प्रशिक्षण परीक्षाफल की तिथि को नजरअंदाज किया गया।उन्होंने कहा कि जिले के शिक्षक पिछले वर्ष अप्रैल से ही वेतन के गम्भीर संकट का सामना कर रहे है। पिछले वर्ष अप्रैल से ही आवंटन का घोर अभाव रहा है तथा किसी भी महीने में शिक्षकों को समय पर वेतन नहीं मिला है। अभी भी आवंटन के अभाव में फरवरी-2020 के वेतन के साथ-साथ मंहगी भत्ता-2019 का दो अन्तर बकाया है।  

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना