कार्यक्रम:हृदय दिवस के अवसर पर उच्च रक्तचाप और मधुमेह के रोगियों की जांच की गई

मधुबनी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्वास्थ्य जांच करते एनसीडीओ डाॅ. एसपी सिंह। - Dainik Bhaskar
स्वास्थ्य जांच करते एनसीडीओ डाॅ. एसपी सिंह।
  • सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में नि:शुल्क चिकित्सीय परामर्श सप्ताह का हुआ आयोजन

बुधवार को सदर अस्पताल में विश्व हृदय दिवस के अवसर पर निशुल्क चिकित्सीय परामर्श सप्ताह की शुरुआत की गई। सदर अस्पताल सहित सभी अनुमंडलीय अस्पतालों व पीएचसी में 5 अक्टूबर तक हृदय रोगियों की जांच की जाएगी व परामर्श दिया जाएगा। सदर अस्पताल में मरीजों का स्वास्थ्य जांच कर रहे जिला गैर संचारी रोग पदाधिकारी डाॅ. एसपी सिंह ने कहा कि संबंधित स्वास्थ्य संस्थानों में उच्च रक्तचाप एवं मधुमेह रोगियों के लिए विशेष जाँच शिविर आयोजित किए जा रहे हैं। मधुमेह एवं उच्च रक्तचाप हृदय रोग के महत्वपूर्ण कारक है।

रोगियों और जनमानस को चिकित्सकों के द्वारा मधुमेह, उच्च रक्तचाप एवं हृदयाघात को लेकर स्वस्थ खान-पान एवं जीवनशैली अपनाने के लिए प्रेरित भी किया जा रहा है। सदर अस्पताल से लेकर हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर स्तर तक विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जायेगा। विश्व हृदय दिवस के अवसर पर एक सप्ताह तक नि:शुल्क चिकित्सकीय परामर्श शिविर का आयोजन किया जा रहा है। डाॅ. अभिलिप्सा ने बताया कि दिल की बीमारी किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकती है। चाहे वह बच्चे, नौजवान या बुजुर्ग ही क्यों नहीं हो। इस तरह की बीमारियों के लिए उम्र की कोई सीमा नहीं होती है। अत्यधिक तनाव, हाइपरटेंशन, डायबिटीज, ज्यादा धूम्रपान, मोटापा, वसायुक्त भोजन ग्रहण के कारण ही सबसे ज़्यादा खतरा होता है। जिनका कोलेस्ट्रोल, ट्राइग्लिसराइड और वीएलडीएल, एलडीएल ज्यादा होता है। हृदय को स्वस्थ रखने के लिए करें ये उपाय : सिविल सर्जन डाॅ. सुनील कुमार झा ने बताया कि प्रतिदिन अन्य कार्यों की तरह ही व्यायाम के लिए भी समय निकालें। सुबह और शाम के समय पैदल चलें या सैर पर जाएं। भोजन में नमक और वसा की मात्रा कम कर लें, अधिक मात्रा में यह हानिकारक होते हैं।ताजे फल और सब्जियों को आहार में शामिल करें।तनावमुक्त जीवन जीएं। तनाव अधिक होने पर योगा व ध्यान के द्वारा इस पर नियंत्रण करें।धूम्रपान का सेवन बिल्कुल बंद कर दें, यह हृदय के साथ ही कई बीमारियों का कारक है। स्वस्थ शरीर और दिल के लिए भरपूर नींद अवश्य लें। वहीं, सदर अस्पताल में आयोजित शिविर में डा. मनीष, एनसीडीओ के लिपिक लक्ष्मीकांत झा, स्टाफ नर्स विश्वजीत, जीएनएम अनुपम कुमारी सहित अन्य लाेग माैजूद थे।

खबरें और भी हैं...