कार्रवाई:सरेंडर नहीं किया तो पुलिस ने आराेपियाें के घर पर की कुर्की-जब्ती की कार्रवाई

मधुबनीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज़|झंझारपुर - Dainik Bhaskar
भास्कर न्यूज़|झंझारपुर

करीब 5 माह पूर्व झंझारपुर थाना के चौडा महरैल गांव में सामूहिक दुष्कर्म के मामले में फरार आरोपी के घर न्यायालय के आदेशानुसार मंगलवार को घर की कुर्की जब्ती की गई है। झंझारपुर थाना के एसआई अरविंद कुमार के नेतृत्व में झंझारपुर पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म के आरोपी सुशील भंडारी, सुनील भंडारी और प्रदीप कामत के घर कुर्की जब्ती कर घर के सामान को थाने पर जमा किया है। कार्रवाई में खिड़की, घर की चौखट, किवाड़ से लेकर कई अन्य सामान को पुलिस ने जब्त किया है। पुलिस के मुताबिक 13 सितंबर 2021 को पुलिस ने दुष्कर्म आरोपी के घर इश्तेहार चिपकाया था। इन 3 महीनों के बाद भी आरोपी ने सरेंडर नहीं किया। बाद में पुलिस ने न्यायालय के आदेश से कुर्की जब्ती की है। बता दें कि झंझारपुर थाना क्षेत्र के एक गांव के युवकों ने एक नाबालिग लड़की को बेहोशी की सूई देकर सामूहिक दुष्कर्म किया। मामला थाने में 16 अगस्त 2021 को सामने आया। घटना 13 अगस्त का बताया गया है। इस मामले में लड़की के पिता गंगा प्रसाद महतो ने चार युवकों पर आरोप लगाते हुए कहा कि बेहोशी की सूई देकर बेहोश कर पूरी रात नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने की घटना को अंजाम दिया और मरा हुआ समझ कर लड़की को उन्हीं के गोइठा पर फेंक दिया गया। पीड़िता को मेडिकल जांच के लिए मधुबनी भेजा गया तो वहीं 164 का बयान पॉक्सो कोर्ट में कराया गया था। एसडीपीओ आशीष आनंद ने कहा कि फरार होने के कारण न्यायालय के आदेश पर कुर्की जब्ती की गई है।

खबरें और भी हैं...