पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अभियंता ने कहा:घोघरडीहा में प्लेटफाॅर्म के निर्माण कार्य में बरती जा रही अनियमितता, निर्माण के कुछ दिनों बाद टूटा बीम

मधुबनी8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
घोघरडीहा रेलवे स्टेशन पर नवनिर्मित प्लेटफॉर्म का टूटा हुआ बीम। - Dainik Bhaskar
घोघरडीहा रेलवे स्टेशन पर नवनिर्मित प्लेटफॉर्म का टूटा हुआ बीम।
  • संवेदक को तत्काल प्लेटफाॅर्म पर रखी गई दो नंबर ईंटों को हटाने का निर्देश दिया गया है

झंझारपुर-निर्मली सकरी रेलखंड पर बड़ी लाइन अमान परिवर्तन कार्य को लेकर तेजी से निर्माण कार्य किया जा रहा है। लेकिन काम को जल्दबाजी में पूरा करने के चक्कर मे रेलवे के संवेदक द्वारा धड़ल्ले से घटिया निर्माण सामग्री यथा ईंट, सीमेंट, बालू, गिट्टी एवं लोहे की सरिया का उपयोग किया जा रहा है जिसके कारण प्लेटफाॅर्म का निर्माण कार्य पूरा होने से पहले ही यह जगह-जगह टूटने लगा है। बतादें कि नवनिर्मित प्लेटफाॅर्म जमीन से करीब दस फीट की ऊंचाई पर स्थित है। लेकिन इतनी ऊंचाई पर बने प्लेटफार्म में न तो कंक्रीट का पीलर दिया गया है और न ही ग्रेडबीम का उपयोग किया गया है। मिट्टी भरकर किनारे से सीमेंट और कंक्रीट के बीम (गाटर) की ढलाई की गई है। लेकिन उसमें भी लोहे का उपयोग नहीं किया गया है।

इसके परिणामस्वरूप एक नंबर प्लेटफाॅर्म के पश्चिमी भाग में काली मंदिर के निकट से अंतिम छोड़ तक प्लेटफाॅर्म के किनारे बना गाटर कई टुकड़ों में टूट गया है। टूटे हुए (गाटर) बीम में साफ देखा जा सकता है कि एक भी लोहे का सरिया नहीं दिया गया है। स्थानीय लोगों ने बताया कि निर्माण कार्य में अनियमितता बरते जाने की शिकायत रेलवे के वरीय अधिकारियों से भी की गई थी। लेकिन इसके बावजूद संवेदक अपने करतूत से बाज नहीं आ रहे है। इस बाबत रेलवे के वरीय अनुभाग अभियंता झंझारपुर नलीन बिहारी ने बताया कि प्लेटफार्म के टूटे हुए गाटर बीम को ठीक करवाया जाएगा और संवेदक को प्लेटफाॅर्म पर रखे दो नंबर ईंट को हटाने का निर्देश दिया गया है।

खबरें और भी हैं...