पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लाेगाें ने कहा:थाना चौक से कोतवाली चौक तक 2 घंटे लगा रहा जाम, हर 10 मिनट पर जाम में फंसते हैं लोग

मधुबनी25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
थाना चौक से लेकर जलधारी चौक तक जाम का नजारा। - Dainik Bhaskar
थाना चौक से लेकर जलधारी चौक तक जाम का नजारा।
  • दिन के बजाय अगर रात में नाला निर्माण कार्य होगा, तो जाम नहीं लगेगा

बुधवार को भी शहर के थाना चौक से लेकर अस्पताल रोड व कोतवाली चौक तक घंटों जाम लगा रहा। सबसे अधिक जलधारी चौक से लेकर वाट्सन स्कूल के बीच जाम लगता है। इस दौरान इस बीच प्रतिदिन घंटों लोगाें को जाम के झाम से होकर गुजड़ना पड़ता है। बुधवार को जलधारी चौक से कचहरी मोड़ तक जाम न लगे, इसके लिए अतिरिक्त बल भी लगाया गया। बावजूद जाम पर कंट्रोल नहीं हुआ। लोगों को सड़क पर एक लाईन से निकालने के लिए नगर पुलिस की पैंथर टीम के साथ अलग से भी लगाए गए पुलिस बल जाम हटाने में फेल रहे।

इस संबंध में लोगों ने बताया कि नाला निर्माण में लगे वाहन दिन में ही नाला खुदाई का कार्य करते हैं और इस दौरान सड़के पर ही मिट्‌टी व किचड़ डाला जाता है। इसके साथ ही नाला में भरे पानी को भी बीच सड़क पर ही जनरेटर लगाकर बहाने का कार्य किया जाता है। जबकि नाला निर्माण कंपनी की ओर से रात में यही कार्य किया जाए तो जाम लगने की संभावना कम रहेगी। पूछने पर यातायात प्रभारी अनिल चौधरी ने बताया कि जाम से लोगों को निजात दिलाने को लेकर हर चौक चौराहे पर हमारी टीम तैनात है लेकिन थाना चौक से कोतवाली चौक तक नाला निर्माण को लेकर सड़क कि चौड़ाई कम हो गई है। इस कारण वाहनों के आने-जाने में परेशानी हो रही है।

चौक-चौराहों पर ऑटो और ई-रिक्शा वालाें का कब्जा

शहर के प्रमुख चौक-चौराहों पर ऑटो चालकों व ई-रिक्शा वालों का कब्जा है। चौराहे पर ही चालक ऑटो खड़ाकर सवारी बैठाते हैं। वहां मौजूद पुलिस व परिवहन विभाग के अधिकारी चुन रहते हंै और राहगीर को परेशानी होती है। शहर के स्टेशन रोड, कोतवाली चौक, शंकर चौक, जलधारी चौक, बाटा चौक, गिलेशन बाजार पर यह हर दिन देखने को मिलता है। यहां सड़क की दोनों दिशाओं में ऑटो लगाकर सवारी बैठाने का काम किया जाता है। यही नजारा थाना मोड़ और अस्पताल चौक का भी है।

देखने के बावजूद पुलिस नहीं करती कोई कार्रवाई

बाइक चालक तो जैसे-तैसे निकल जाते हैं, लेकिन चार पहिया व उससे बड़े वाहनों के लिए यहां से निकलना मुश्किल साबित हो जाता है। यही कारण है कि यहां बार-बार जाम भी लगता है और लोगों को परेशानी होती है। शहर के राम चौक से लेकर चभच्चा मोड़ तक सड़क पर ही ऑटो लगाकर सवारी बैठाया जाता है। शहर में एक ही निर्धारित ऑटो स्टैंड है। इसके अलावे कहीं भी सवारी वाहन खड़ा करने पर पाबंदी है। बावजूद सड़क पर ऑटो खड़ा करने पर पुलिस कार्रवाई नहीं करती है।

खबरें और भी हैं...