पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तैयारी पूरी:गंगा दशहरा पर बनारस के तर्ज पर हाेगी कमला आरती

मधुबनी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जयनगर में कमला आरती की तैयारी में जुटे कमेटी के सदस्य। - Dainik Bhaskar
जयनगर में कमला आरती की तैयारी में जुटे कमेटी के सदस्य।
  • 30 मिनट की आरती में नेपाल के भक्त भी होंगे शामिल, साधु-संतों के लिए भंडारे का होगा आयोजन

20 जून काे गंगा दशहरा के दिन बनारस के तर्ज पर पहली बार कमला आरती की शुरुआत होगी। आयोजकों ने कहा कि गंगा दशहरा के दिन ही गंगा स्वर्ग से धरती पर उतरी थी। इसलिए गंगा दशहरा के दिन से जयनगर में साप्ताहिक कमला आरती की शुरुआत की जाएगी जिसकी पूरी तैयारी कर ली गई है। कमला आरती के आयोजन को लेकर बॉर्डर के सभी वर्ग के लोगों में काफी हर्ष व उत्साह देखा जा रहा है। कमला आरती को ऐतिहासिक एवं भव्य रूप देने के लिए बैंड बाजा, कीर्तन और साधु संतों के भंडरा समेत अन्य जरूरी वस्तुओं की व्यवस्था कर ली गई है। कमला आरती सेवा समिति जयनगर के सदस्य अरविंद तिवारी और रेखा महतो ने संयुक्त रूप से बताया कि हर सोमवार को कमला के पर्ण कुटी घाट पर निष्ठापूर्वक कमला आरती का आयोजन होगा। माघ पूर्णिमा के दिन से सोमवार के अलावा शुक्रवार को भी कमला आरती का आयोजन होगा।

मिथिलांचल के 10 लाख लोगों के लिए जीवनदायिनी है कमला नदी

मिथिलांचल के लोग कमला को छोटी गंगा भी कहते हैं। यह नदी नेपाल के हिमालयी क्षेत्रों से बहकर जयनगर बॉर्डर होते बिहार में प्रवेश करती है। मिथिलांचल के 10 लाख से अधिक लोगों के लिए कमला जीवनदायिनी है। हर साल कमला में आने वाली बाढ़ उपजाऊ मिट्टी लेकर भी आती है। महापर्व छठ से लेकर विभिन्न प्रकार के अनुष्ठान कमला तट पर होते है। इसके अलावा सावन में एक माह तक श्रावणी मेला का आयोजन होता है। प्रदेश के अलावा नेपाल से भी श्रद्धालु कमला से जल भरकर प्रसिद्ध कपिलेश्वर स्थान में जलाभिषेक के लिए पैदल आते हैं।

खबरें और भी हैं...