पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आंकड़ाें में की गई हेराफेरी:नप ने गलत रिपोर्ट देकर कहा- 24 वार्डों में योजना का काम पूरा हुआ

मधुबनी6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • तीन वार्डों में ही नल जल याेजना का पूरा हुआ काम

विभागीय रिपोर्टिंग के मामले में फिर नप की लापरवाही सामने आई है। इस बार एक साथ नप ने उपमुख्यमंत्री सहित कई अन्य उच्चधिकारी व जनप्रतिनिधि को बेवकूफ बनाया है। आंकड़े की बाजीगिरी कर विभागीय समीक्षा बैठक में फर्जी रिपोर्ट दे डाली। नल-जल, नाली-गली, आवास, शौचालय आदि का फर्जी आंकड़ा देकर सदन तक को गुमराह किए जाने में कोई कसर नहीं छोड़ी गई है। सबसे दिलचस्प है कि इस बैठक में जिले के सांसद के अलावे विधान पार्षद, विधायक व नगर निकाय के मुख्य पार्षद व उप मुख्य पार्षद मौजूद थे। बावजूद इन सभी की आंखों में नप की ओर से धूल झोंका गया। 6 जनवरी को दरभंगा व भागलपुर प्रमंडल की समीक्षात्मक बैठक में दी गई रिपोर्ट में शहर के 24 वार्डों में नल-जल योजना का काम पूरा होने की रिपोर्ट दी गई है।

जादुई व फर्जी आंकड़े के मुताबिक शहर के 24 वार्डों के 11 हजार 223 घरों में जल संयोजन की सुविधा उपलब्ध होने की बात बतलाई गई है। जबकि हकीकत की तस्वीर कुछ और ही है। दो-तीन वार्डों को छोड़कर किसी भी वार्ड का कार्य पूर्ण नहीं हुआ है। वहीं, कागजों पर जैसे-तैसे यदि कार्य पूर्ण भी कर लिया गया है तो लोगों को इस योजना के तहत पानी नहीं मिल रहा है। जिस किसी भी वार्ड में पानी की आपूर्ति हो रही थी उन वार्डों में भी ठेकेदार ने भुगतान नहीं मिलने के कारण पानी बंद कर दिया है। जबकि इस योजना को लेकर 87 लाख रुपए का विचलन भी कर दिया गया है। लेकिन पानी की आपूर्ति नियमित किए जाने की दिशा में सार्थक पहल नहीं की गई।

नप के सिटी मैनेजर ने कहा- रिपोर्ट देने में गड़बड़ी करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी

नली-गली योजना में भी हास्यास्पद रिपोर्ट की गई है। इसमें शहर के 30 वार्डों में संचालित 337 योजनाओं में से 314 योजना का कार्य पूर्ण होने की रिपोर्ट दी गई है। वहीं केवल 23 योजनाओं का कार्य बाकी होने व 5 वार्डों में इस योजना के कार्य को अपूर्ण बतलाया गया है। यही हाल शौचालय योजना का भी है। शहरी क्षेत्र में इस रिपोर्ट के मुताबिक केवल 14 घरों में व्यक्तिगत शौचालय नहीं बन सका है। जबकि कम्युनिटी शौचालय के मामले में भी भ्रामक रिपोर्ट की गई है। इसमें 36 शौचालय का निर्माण दिखाया गया है जबकि हकीकत में शून्य है। वहीं, विधान पार्षद सुमन कुमार महासेठ ने बताया कि इस तरह की भ्रामक रिपोर्ट देने पर कार्रवाई होनी चाहिए। वहीं, सिटी मैनेजर नीरज कुमार झा ने बताया कि रिपोर्ट में गड़बड़ी की गई है तो कार्रवाई की जाएगी।

घर बनाए जाने की रिपोर्ट भी गलत है

वहीं, आवास योजना के रिपोर्ट में भी लापरवाही की गई है। शहरी क्षेत्र में चार फेज में 1470 लोगों के आवास का कार्य कंप्लीट होने की फर्जी रिपोर्ट दी गई है। इसमें प्रथम फेज में 340 लोगों को प्रथम क़िस्त दी गई। जबकि दूसरी क़िस्त की राशि 305 लोगों को व 246 लोगों को तीसरी क़िस्त की राशि दी गई। अब यहां दिलचस्प है कि तीसरे क़िस्त की राशि 246 लोगों को मिला पर घर का निर्माण कार्य पूर्ण होने की 310 यूनिट की रिपोर्ट की गई। वहीं दूसरे फेज में 1485 को प्रथम क़िस्त व 760 को दूसरी व 50 लोगों को तीसरी क़िस्त की राशि दी गई। साथ ही इस फेज में कुल 1160 यूनिट के पूर्ण होने की रिपोर्ट कर दी गई। तीसरे फेज में 1055 लोगों को प्रथम क़िस्त की राशि दी गई। वहीं चौथे फेज में केवल 1202 लोगों का आवेदन स्वीकृत होने की रिपोर्ट की गई है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिस्थितियां अति अनुकूल है। कार्य आसानी से संपन्न होंगे। आपका अधिकतर ध्यान स्वयं के ऊपर केंद्रित रहेगा। अपने भावी लक्ष्यों के प्रति मेहनत तथा सुनियोजित ढंग से कार्य करने से काफी हद तक सफलत...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...

  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser