काेविड काे हराएंगे:696 टीका केंद्रों पर चला मेगा टीकाकरण अभियान 28 हजार से अधिक लोगों को दिया बचाव का टीका

मधुबनीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोनारोधी वैक्सीन लगाती स्वास्थ्यकर्मी। - Dainik Bhaskar
कोरोनारोधी वैक्सीन लगाती स्वास्थ्यकर्मी।
  • अब तक 22,78,893 लोगों को प्रथम डोज व 14,40,009 से अधिक लोगों को दूसरा डोज दिया गया

लक्ष्य प्राप्त करने को लेकर जिले में मेगा टीकाकरण अभियान चलाया गया। विभाग की ओर से 696 सत्र स्थलों पर वैक्सीन दी गई है। इस टीकाकरण महा अभियान के तहत सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना टीकाकर्मी ने कोरोना टीका से वंचितों को टीका दिया गया। साथ ही दूसरे डोज़ सेे छूटे लोगों को टीकाकृत करने का निर्देश दिया गया है। कोरोना टीकाकरण महा अभियान के तहत दूसरे डोज को प्राथमिकता दी गई। इसके साथ ही, जिन्हाेंने कोरोना टीका का पहला डोज भी नहीं मिला है, उन्हें भी टीका दिया जाएगा। मालूम हो कि जिले में अब तक 37 लाख 18 हजार से लोगों का टीकाकरण किया गया है। इसमें 22,78,893 लोगों को प्रथम डोज और 14,40,009 से अधिक लोगों को दूसरा डोज दिया गया है।

इसमें 20,80,004 महिला और 16,35,039 पुरुष को टीकाकृत किया गया है। टीका लेने वाले में 32,49,525 लोगों को कोविशील्ड और 4,67,371 काे कोवैक्सीन डोज दिया गया है। वहीं, 18 से 44 साल के 21,76,191 लोगों, 45 से 60 वर्ष के 8,06,378 लोगों तथा 60 वर्ष से ऊपर के 7,29,368 लोगों को टीका लगाया गया है। मेगा अभियान के दौरान शाम 4:00 बजे तक 28,000 से अधिक लोगों को टीकाकृत किया गया है। जिला प्रतिरक्षा पदाधिकारी डॉक्टर एस.के विश्वकर्मा ने बताया कि पिछले दिनों विभाग की समीक्षा बैठक में कोरोना टीकाकरण अभियान के तहत सभी लोगों को टीकाकृत करने का निर्देश दिया था। इस निर्देश के आलोक में स्वास्थ्य विभाग ने टीकाकरण महा अभियान संचालित करने का निर्णय लिया है।

रिफ्यूज रिस्पांस टीम ने कई जगह पर लोगों का किया टीकाकरण
स्वास्थ्य विभाग व केयर इंडिया के द्वारा बनाई गई रिफ्यूज रिस्पांस टीम के द्वारा राजनगर प्रखंड के भगवानपुर गांव में 20 रिफ्यूज लोगों को प्रथम डोज दिया गया जिसमें कई गर्भवती महिलाएं, धात्री महिलाएं व बुजुर्ग लोग सम्मिलित थे। केयर इंडिया के डीटीएल महेंद्र सिंह सोलंकी ने बताया कि अभी भी समाज में कई ऐसे लोग हैं जिनमें कई प्रकार की भ्रांतियां है। ऐसे लोगों को आशा के द्वारा चिह्नित किया जाता है और स्वास्थ्य विभाग की टीम उस क्षेत्र में पहुंचकर लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करती है।

इसी क्रम में आशा फेसिलिटेटर द्वारा 20 लोगों के टीकाकरण नहीं कराने की जानकारी दी गई। पूर्व में भी इस गांव में कई बार स्वास्थ विभाग की टीम पहुंची और लोगों को टीकाकरण के लिए मनाने में असफल रही। केयर इंडिया, लैब टेक्नीशियन इस्मतुल्लाह उर्फ गुलाब, आशा फैसिलिटेटर मंजू कुमारी, जीएनएम सुमन द्वारा कुल 36 लोगों को टीकाकृत किया गया। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी ने बताया कि अभियान के तहत 60 हज़ार लोगों को टीकाकृत करने का लक्ष्य रखा गया है।

इसे लेकर सभी स्वास्थ्य अधिकारियों और कर्मियों को दिशा-निर्देश दिए गए हैं। महा अभियान के साथ सभी पीएचसी, शहरी क्षेत्र ओर मोबाइल टीम की ओर से लोगों को डोज दिया जाएगा। जिले में करीब 300 मोबाइल टीम घर-घर जाकर लोगों को वैक्सीन का पहला और दूसरा डोज देगी। बताया गया कि सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर महा अभियान को लेकर एएनएम और आशा को अपने-अपने क्षेत्रों में जागरूक करने को कहा गया है ताकि अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीन का डोज दिया जा सके।
अधिक से अधिक लोगों को आच्छादित करने को लेकर दिया निर्देश | सिविल सर्जन डाॅ. सुनील कुमार झा ने बताया कि टीकाकरण अभियान में कुछ पीएचसी पीछे रह गए हैं। उनको अधिक से अधिक लोगों को टीकाकरण करने के लिए कहा गया है। बताया कि कुछ क्षेत्रों में अभी भी कुछ लोग टीकाकरण के लिए तैयार नहीं है। जो भी पीएचसी प्रभारी या अधिकारी विभागीय निर्देशों के आलोक में टीकाकरण में तेजी नहीं लाएंगे, उनपर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...