प्रशिक्षण:पाेषण शक्ति योजना में पीएफएमएस के माध्यम से किया जाएगा भुगतान

मधुबनीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिला मध्याह्न भोजन योजना कार्यालय में सभी बीआरपी को पीएफएमएस से संबंधित प्रशिक्षण दिया गया। इस मौके पर डीपीओ मध्याह्न भोजन योजना मो. नजीबुल्लाह ने कहा कि मध्याह्न भोजना योजना (एमडीएम) के नाम में बदलाव कर इसे प्रधानमंत्री पोषण शक्ति योजना कर दिया गया है। अब नए नाम की यह योजना ऑनलाइन हो गई है।

रिपोर्ट, निरीक्षण प्रतिवेदन, मॉनिटरिंग और व्यय की हर प्रक्रिया डिजिटल हाेगी। डीपीओ ने कहा कि एकाउंटिंग सिस्टम को पीएफएमएस किए जाने से योजना क्रियान्वयन में पारदर्शिता बढ़ेगी। सभी लाभुकों तक योजना का लाभ पहुंच पाएगा। उन्होंने कहा कि योजनाओं के क्रियान्वयन में बदलाव को लेकर राज्य स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम चल रहा है। डीपीओ ने बताया कि राज्य स्तर पर मास्टर ट्रेनर को प्रशिक्षण दिया जा चुका है जिसमें डीईओ, डीपीओ, संसाधन सेवी और अन्य कर्मियों को शामिल किया गया था। इसी के तहत प्रशिक्षण दिया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार का उद्देश्य मध्याह्न भोजन योजना, जो अब प्रधानमंत्री पोषण शक्ति योजना के नाम से जाना जाएगा, इसे बच्चों के हित में इसे शत-प्रतिशत लागू करना है।

एमडीएम कार्यालय के जिला लेखापाल दीपक कुमार ने बताया कि पीएफएमएस के माध्यम से ही कोई भुगतान वेंडर या अन्य सेवा प्रदायी संस्थानों के साथ ही कर्मियों को होगा। इसके लिए एक चेकर व एक मेकर के साथ अप्रूवर होंगे। एचएम और साधनसेवी के बीच ही इन तीनों का निर्धारण किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...