पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

जताया विरोध:मनरेगा में लोगों को 200 दिनों का काम मिले किसानाें का कर्ज माफ किया जाए : भाकपा

मधुबनी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जिला कार्यालय में मंगलवार को जिला मंत्री मिथिलेश कुमार झा की अध्यक्षता में एक धरना कार्यक्रम आयोजित किया गया। धरना प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे जिला महामंत्री ने मजदूर व आम मजदूर की वर्तमान स्थिति पर विस्तार से चर्चा की व उनके हक के लिए सरकार से लड़ने की रणनीति तैयार करने पर बल दिया है। धरना प्रदर्शन कर रहे अपने साथियों को संबोधित करते हुए जिला महामंत्री ने कहा कि कोरोना के कारण  लाॅकडाउन होने के बावजूद प्रदेश सहित जिला में आपराधिक घटनाओं में अप्रत्याशित वृद्धि हुई है।

वहीं सरकार से यह मांग करते हैं कि मनरेगा में कार्य करने की अवधि को 200 दिन करने,  पीड़ित परिवारों को 7500 रुपए और 15 किलो अनाज प्रति महीना 6 महीने तक देने, बेरोजगारों को रोजगार की गारंटी, कर्जदार किसानों का कर्ज माफ किया जाए। धरना प्रदर्शन कार्यक्रम जिले के रहिका, जयनगर, बेनीपट्टी, हरलाखी, झंझारपुर, लौकही और अन्य जगहों पर भी आयोजित किया गया था। लाेगों को 6 महीने तक हर माह 15 किलो अनाज मिले

प्रवासियों को मानदेय दे सरकार : सीपीआई

रहिका|प्रखंड मुख्यालय में स्थित पार्टी प्रखंड सीपीआई शाखा द्वारा पार्टी के जिला परिषद कार्यालय व सीपीआई  वरीय सदस्य हरिनाथ यादव की अध्यक्षता में  कोरोना महामारी संकट के बीच राज्य के विभिन्न जिला प्रखंडों में बढते अपराध और भ्रष्टाचार के विरुद्ध.व प्रवासी बेरोजगार मजदूरों और किसानों को दस हजार रुपए सहायता मासिक मानदेय और अन्य विभिन्न मांगों को लेकर वामपंथी दलों के आह्वान पर दो जून को 11 बजे से सीपीआई रहिका शाखा द्वारा उद्योग भवन रहिका में धरना दिया गया। मौके पर शाखा मंत्री मो. नसीम सहित दर्जनों सीपीआई के सदस्य उपस्थित थे।

साेशल डिस्टेंसिंग का किया पालन
धरना में पार्टी राष्ट्रीय परिषद् सदस्या राजश्री किरण, राज्य परिषद सदस्य सूर्यनारायण महतो, शहर मंत्री मोतीलाल शर्मा, जिला परिषद सदस्य ओमप्रकाश कापरी, संताेष झा, सत्यनारायण राय, छात्र नेत्र विकास झा, जोबेर अंसारी, मो. कासिम अन्य कई लोग शामिल थे। धरना के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते प्रदर्शन कारी प्रर्दशन कर रहे थे। 

प्रवासियों को वापस लाने में केंद्र व राज्य सरकार विफल
भाकपा जिला कार्यालय में धरना को संबोधित करते हुए पार्टी जिला ने कहा एक तरफ कोरोना संकट के कारण आम लोग परेशान है। बिहार के बाहर काम करने वालों को सुरक्षित वापस लाने व रखने में केंद्र और राज्य सरकार विफल है। पहले ही बेरोजगारी चरम पर है, कृषि प्रधान राज्य होने के कारण यहां उद्योग, कल कारखाना की कमी है। कृषि आधारित उद्योग रैयाम, लोहट और सकरी चीनी मिल वर्षों से बंद है। दूध और खाद्य संस्करण उद्योग बंद पड़े हुए हैं। 

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर आप कुछ समय से स्थान परिवर्तन की योजना बना रहे हैं या किसी प्रॉपर्टी से संबंधित कार्य करने से पहले उस पर दोबारा विचार विमर्श कर लें। आपको अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी। संतान की तरफ से भी को...

और पढ़ें