कोरोना अपडेट / अपने सामान की रक्षा स्वयं करें, इसी तर्ज पर स्वयं को रक्षा करना होगा, रहें सतर्क : पीएचसी प्रभारी

Protect your belongings yourself, you have to protect yourself on the same lines, be cautious: PHC incharge
X
Protect your belongings yourself, you have to protect yourself on the same lines, be cautious: PHC incharge

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 05:00 AM IST

मधुबनी. अब लाॅक डाउन के बाद अनलॉक वन सोमवार से जून से शुरू हो गया है। घरों में रहने वाले लोग खुले बाजार में घूम रहे हैं। अब इन लोगों में किसके साथ कोरोना वायरस घूम रहा है। यह परखना मुश्किल है। जानकारों की मानें तो बताते हैं कि हर मिलने वाले व्यक्ति को संदिग्ध समझने वाला ही सुरक्षित रह सकता है। छूट में जितनी लापरवाही उतना ज्यादा खतरा है। जितनी सावधानी उतना कम खतरा है। जैसे अपने सामानों की रक्षा स्वयं करें। इसी तर्ज पर स्वयं को रक्षा करना होगा।

जबकि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कहीं से भी हो नहीं पा रहा है। प्रवासी लोग विभिन्न प्रदेशों से आ रहे हैं। मात्र 11 शहरों (रेड जोन) से आने वाले प्रवासियों को ही क्वारंटाइन सेंटर में रखा जा रहा है।  अन्य को अन्य लोगों को स्वयं शपथ पत्र देकर होम को क्वारंेटाइन भेजा रहा जा रहा है। जबकि होम क्वारेंटाइन में जाने वाले लोग बिना मास्क के घूम रहे हैं। रेड जोन शहर से भी आने बाले लोग शहर का नाम बदलकर, झूठ बोलकर प्रखंड क्वारेंटाइन में नहीं जकर घरों में जाते है। प्रखंड कोविड-19 कैंप के प्रभारी शंकर कुमार झा ने कहा कि आने वाले प्रवासी के कहे जाने बाले शहर के आधार भेजा जाता है।

अगर उन्हें 11 शहरों के अलावा कोई अन्य शहर का नाम बोलें तो उसी आधार पर उन्हें होम क्वारेंटाइन भेजा जा रहा है। हर गांव, हर मोहल्ले में चोरी-छिपे बिना पंजीकरण के घरों में रहने वाले प्रवासियों की शिकायत से प्रखंड कैंप भी परेशान है। प्रखंड में अब तक 29 पॉजीटिव केस पाए गए हैं।  जिसमें 14 स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। पीएचसी प्रभारी मुकेश कुमार कहते हैं कि स्वयं की सतर्कता और रक्षा ही बचाव का एकमात्र उपाय है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना