पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शहर वासियों की परेशानी:हरी सब्जी की कीमतों मे आई उछाल, लोगों की बढ़ गई परेशानी

मधुबनी4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिस वजह से शहर के जरूरत के हिसाब से जितनी सब्जी यहां आती थी उसमें काफी कमी का होना

खाद्य व किराना समान की महंगाई की मार झेल रहे शहर वासियों की परेशानी दुर होने का नाम ही नही ले रहा है। अब तक सरसों तैल,चीनी, दाल इत्यादि समान की महंगाई से गरीब व मध्यवर्गीय परिवार परेशान है। वही अब हरी सब्जी की कीमतों में आई उछाल ने जिले के गरीब व मध्यवर्गीय परिवार की परेशानी और बढ़ गई। सब्जी खरीदने आए हरि मोहन झा ने बताया कि हरी सब्जी की कीमतों में प्रति किलो 10 से 15 रुपये की बढ़ोतरी हुई है। वही परबल की कीमत में 20 रूपये की वृद्धि हुई है। सब्जी कारोबारी अशोक साह की माने तो सब्जी की कीमत में बढ़ोतरी के कई कारण है। पहला कारण यह की जहां से सब्जी आती थी वहां बाढ की वजह से हरी सब्जी की खेती को काफी नुकसान पहुंचा है।

जिस वजह से शहर के जरूरत के हिसाब से जितनी सब्जी यहां आती थी उसमें काफी कमी का होना। वहीं स्थानीय स्तर पर जहां जहां हरी सब्जी की खेती होती थी वहां रिकार्डतोड़ बारिश के कारण सब्जी उत्पादन काफी प्रभावित हुआ है। इस लिए महंगा सब्जी मिल रहा है। ऐसे में हमलोग भी महंगा बेचने को मजबूर है। एक सप्ताह पहले परबल-50, चलानी परबल 25, टमाटर-40, पत्ता गोभी-30, करैला-40, फूलगोभी 80 रूपए, झिमनी-30, बैगन-30 रुपए किलाे बिक रहा था। वहीं, अब परबल-70, चलानी परबल-30 से 40, टमाटर-30, पत्ता गोभी-40, उजला करैला-60 से 70, हरा करैला-25 से 30, फूलगोभी -100, झिमनी-40 और बैगन-40 रुपए प्रति किलो बिक रहा है।

खबरें और भी हैं...