आम बगीचा की बोली लगवाई / वर्षों से विवादित आम के बगीचे की 66 हजार रुपए में हुई बंदोबस्ती

आम के बगीचे की बंदोबस्ती में मौजूद लोग और पदाधिकारी। आम के बगीचे की बंदोबस्ती में मौजूद लोग और पदाधिकारी।
X
आम के बगीचे की बंदोबस्ती में मौजूद लोग और पदाधिकारी।आम के बगीचे की बंदोबस्ती में मौजूद लोग और पदाधिकारी।

  • बगीचे की बोली लगाने में 12 लोग शामिल थे, एक घंटे तक चला सिलसिला

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

मधुबनी. सीओ विष्णुदेव सिंह ने शनिवार को बीआरसी भवन प्रकोष्ट में एक विवादित आम बगीचा की बोली लगवाई। मौके पर मरुकिया पंचायत के मुखिया रामसगर यादब, तथाकित महंत सिद्धि गिरि, विनोद गिरि, अंचल नाजिर राज कुमार झा, राजस्व कर्मचारी सहित दर्जनों ग्रामीण मौजूद थे। सीओ के द्वारा बोली की सुरुवात 25 हजार रुपए तय की गई थी। उक़्त बगीचे की बोली में 12 लोग शामिल थे। बगीचा की बोली में शामिल लोगों ने करीब एक घंटे तक बोली का सिलसिला चलने के बाद उसी गांव के भोगेन्द्र राय ने 66 हजार की अंतिम बोली लगाकर अपने नाम किया। वही इस संबंध में सीओ विष्णुदेव सिंह ने कहा कि अंधराठाढ़ी अंचल के मरुकिया मौजा में खाता 233, खेसरा 600 रकवा 2 बीघा 7 कठा 13 धुर जमीन है। जो सीएस के आधार पर गैर मजरुआ आम खाते की जमीन पर आम का बगीचा लगा हुआ था। जिसको लेकर ग्रामीण नारायण राय और तथाकित महंत सिद्धि गिरि के बीच विवाद चल रहा था। इस संदर्भ में 5 वर्षो से दोनों के बीच काफी तनावपूर्ण स्थिति थी। दोनों लोग अपने अपने स्तर से जमीन पर हक जमा रहे थे। जबकि गैर मजरुआ आम खाते की जमीन है। अंचल के द्वारा उन्हें नोटिस जारी कर अपना अपना कागजात दिखाने के लिए कहा गया था। जिसे दोनों पक्षों के द्वारा कोई कागजात नहीं दिखाया गया। विधि व्यवस्था के मद्देनजर अंचल के स्तर से तत्काल बगीचा की बंदोबस्त की गई है। ग्रामीण भोगेन्द्र राय को 66 हजार रुपए में बंदोबस्त दिया गया है। वही नारायण राय ने कहा कि 20 वर्षो जमीन का पर्चा काट रहे है। इसका मामला कोर्ट में भी कई वर्षो से चल रहा है। कई बार डीएम के समक्ष भी गुहार लगाई है। बाबजूद बगीचे की बोली लगाई गई है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना