संक्रमण का खतरा / कंटेनमेंट जोन में खुली रहीं दुकानें, ग्राहकों की लगी भीड़

बासोपट्‌टी कंटेनमेंट जोन में दुकानों पर लगी भीड़। बासोपट्‌टी कंटेनमेंट जोन में दुकानों पर लगी भीड़।
X
बासोपट्‌टी कंटेनमेंट जोन में दुकानों पर लगी भीड़।बासोपट्‌टी कंटेनमेंट जोन में दुकानों पर लगी भीड़।

  • बासोपट्टी प्रखंड मुख्यालय में कोरोना पॉिजटिव मरीजों की संख्या में बेतहाशा वृद्धि हो रही है

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

मधुबनी. प्रखंड मुख्यालय में एक तरफ जहां कोरोना पॉजेटिव मरीजो की संख्या में लगातार बेतहाशा वृद्धि हो रहा है। वहीं क्षेत्र के दुकानदार कंटेंनमेंट जोन में भी दुकान खोलकर दुकानों पर भीड़ लगवाए हुए हैं। 9 कोरोना मरीज मिलने के बाद प्रशासन द्वारा क्षेत्र को कंटेंनमेंट जोन घोषित करते हुए बांस बल्ला से बेरिकेट कर दिया गया। बावजूद स्थानीय दुकानदार अपनी अपनी दुकानें खोलकर ग्राहकों की भीड़ इकठ्ठा करते नजर आ रहे हैं। शुक्रवार को एकाएक 16 कोरोना पोजेटिव मरीजो की संख्या सामने आने के बाद भी दुकानदार दुकान खोल कर सामग्री बेचते रहे। पाॅजिटिव मामला सामने आने के बाद से स्थानीय बुद्धिजीवी वर्गों के मन में संक्रमण का डर काफी बढ़ गया है। दुकान खुलने के कारण संक्रमण का खतरा भी पहले से ज्यादा हो गया है। अभी तक कुल 31 मरीज मिले हैं। लेकिन चंद पैसे के लालच में दुकानदार कंटेंनमेंट जोन के नियमो को नही समझ रहे हैं। प्रशासन ने लाउडस्पीकर के माध्यम से लोगों को जागरूक भी किया लेकिन कोई फर्क नही पर रहा। ऐसे में प्रशासन को ठोस कदम उठाते हुए ऐसे दुकानदार के खिलाफ उचित कानूनी करवाई करनी चाहिए।
जिले के सर्राफा व्यवसायियों ने की दुकान खोलने की मांग
भास्कर न्यूज|मधुबनी
जिले के सर्राफा व्यवसायियों व ज्वेलरी दुकानदारों ने डीएम से अन्य व्यवसाय की तरह उन्हें भी लाक डाउन के नियमों का पालन करते हुए रोजी-रोटी कमाने की अनुमति देने की मांग की है। इसके लिए व्यवसायियों ने सराफा बाजार में बैठक आयोजित की। इनलोगों का कहना है कि सूबे के कई जिलो में जैसे कटिहार, गया, मुजफ्फरपुर व अन्य जिले के जिला प्रशासन द्वारा आभूषण के दूकानों को खोलने का निर्देश दिया है। वहीं इस जिला में प्रशासन द्वारा आदेश नहीं देने से इस व्यवसाय से जुड़े कारीगर व दुकानदारों की आर्थिक स्थिति ख़राब हो गई है। मुजफ्फरपुर में निर्धारित दिन को 10 बजे से 4 बजे शाम तक दुकान खोलने की इजाजत है। कटिहार में 10 बजे से 05 बजे शाम तक खुलते हैं। गया में भी सोमवार एवं गुरुवार को दुकाने खुलती है। सर्राफा संघ के नेता गुरूशरण प्रसाद ने कहा कि बहुत से हमारे कारीगर साथी महाराष्ट्र वापस चले गए हैं। यहां तीन महीने से पूरी तरह काम ठप है। विधान पार्षद व मानवाधिकार समिति के अध्यक्ष सुमन कुमार महासेठ ने जिले में सोना-चांदी के दुकानों को लॉडाउन के नियमाें का पालन करते हुए खोलने की इजाजत देने के लिए एक मांगपत्र जिला प्रशासन को सौपा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना