परेशानी बरकरार:सुबह से लाइन में लगे रह गए किसान, लेकिन खाद नहीं मिली, शाम में सभी काे बैरंग वापस लाैटना पड़ा

मधुबनीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
खाद वितरण की सूचना पर कतार में खड़े लोग। - Dainik Bhaskar
खाद वितरण की सूचना पर कतार में खड़े लोग।
  • खेताें की नमी कम हाे रही है, खाद नहीं मिलने से जुताई के बाद खाली पड़ा है खेत

रहिका प्रखंड स्थित इफको गोदाम के बाहर खाद मिलने की सूचना पाकर सुबह पांच बजे से ही खाद लेने के लिए हजारों की तादाद में किसानों की भीड़ उमड़ पड़ी थी। गोदाम में खाद भी भरपूर थी लेकिन किसानों की भीड़ के सामने खाद वितरण कार्य में लगे गोदाम प्रबंधक सुजीत कुअंमार बेबस नजर आए। प्रखंड कृषि पदाधिकारी विश्वनाथ प्रसाद से जब खाद वितरण नहीं करने का कारण पूछा गया तो कहा बिना पुलिस बल के वितरण का काम संभव नहीं प्रतीत हो रहा है। प्रखंड विकास पदाधिकारी को इसकी सूचना दी गई है। वह इसके वितरण की व्यवस्था करेंगे। प्रखंड विकास पदाधिकारी सत्येंद्र कुमार बिस्कोमान खाद गोदाम पर पहुंचे और वितरण कार्य आरंभ भी कराया। दो लाइन लगी जिसमें एक में महिला किसान तो दूसरे में पुरुष किसान खड़े हुए।

तकरीबन आधे घंटे तक वितरण कार्य सुचारू रूप से चला। फिर जैसे ही प्रखंड विकास पदाधिकारी वहां से निकले तो किसान हंगामा करने लगें। किसानों के इस रवैये से परेशान गोदाम प्रबंधक ने पुनः वितरण कार्य बंद कर दिया। साथ ही कहा कि पुलिस बल की व्यवस्था होने पर खाद का वितरण किया जाएगा। इस तरह सुबह से लाइन में लगे किसान आखिरकार शाम तक हल्ला करते रहे लेकिन गोदाम का ताला नहीं खुला। किसान परेखन यादव ने कहा कि कोई भी कर्मचारी गोदाम के भीतर मौजूद नहीं था। सुबह चार बजे से ही लाइन में खड़े हैं लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है। किसान को बिना खाद के लौटते देखकर कांग्रेस जिलाध्यक्ष शीतलांबर झा ने कहा कि पूरे जिले में डीएपी खाद की किल्लत से किसान परेशान हैं। गेहूं की बुआई के लिए खेत तैयार है लेकिन खाद की किल्लत की वजह से बुआई नहीं हो रही हैं। यदि प्रसाशन खाद वितरण नहीं करवाता है तो किसान हित में कांग्रेस पार्टी आंदोलन करने को बाध्य होगी।

खबरें और भी हैं...