पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सतर्कता जरूरी है:जिले में कोविड-19 की टेस्टिंग का लक्ष्य हुआ निर्धारित प्रतिदिन आरटीपीसीआर से 500 सैंपल की हाेगी जांच

मधुबनी4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोविड-19 की जांच करते स्वास्थ्यकर्मी। - Dainik Bhaskar
कोविड-19 की जांच करते स्वास्थ्यकर्मी।
  • सिविल सर्जन ने कोविड-19 की जांच में तेजी लाने का सभी संबंधित स्वास्थ्य अधिकारियों को दिया निर्देश

कोरोना संक्रमण के तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा लगातार पहल की जा रही है। इसी कड़ी में विभाग ने कोरोना जांच में तेजी लाने के उद्देश्य से नये लक्ष्य को निर्धारित किया है। अब जिले में प्रतिदिन 500 आरटीपीसीआर सैँपल कलेक्शन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। वहीं आरटीपीसीआर सैंपल के जांच के लिए मधुबनी मेडिकल कॉलेज से टैग किया गया है। इस संबंध में राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह ने पत्र जारी कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिया है। जारी पत्र की जानकारी देते हुए सिविल सर्जन डा. सुनील कुमार झा ने बताया कि जिले के अरटीपीसीआर से जाँच के लिए नमूना संग्रहण के लक्ष्य को पुनरीक्षित करने की आवश्यकता समझी गई है। जिलावार आरटीपीसीआर एवं ट्रूनेट से जाँच के लिए नमूना संग्रहण का संशोधित लक्ष्य दिया गया है। पत्र के माध्यम से निर्देश दिया गया है कि अपने लक्ष्य के अनुरूप कोविड टेस्टिंग कार्य सम्पन्न करें।
जितनी अधिक जांच, उतनी मजबूत होगी लड़ाई| सिविल सर्जन डॉ. सुनील कुमार झा ने कहा कि जांच में तेजी लाने के उद्देश्य से यह निर्णय लिया गया है। जितनी अधिक जांच होगी, कोरोना के खिलाफ लड़ाई उतनी ही मजबूत होगी। उन्होंने जिलावासियों से अपील करते हुए कहा कि अगर कोरोना के हल्के (माइनर) लक्षण भी दिखे तो कोविड-19 जांच जरूर कराएं। जितना जल्दी जांच होगी उतना ही जल्दी उपचार शुरू होगा। इससे स्थिति गंभीर होने से बच सकती है। साथ ही कोरोना का प्रतिशत भी कम होगा।बीमारी को छुपाने से स्थिति गंभीर हो सकती है, इसलिए बीमारी छुपाएं नहीं।
गांव स्तर पर की जा रही जांच| स्वास्थ्य विभाग की टीम जिले के विभिन्न क्षेत्रों में रैपिड एंटीजन टेस्टिंग के माध्यम से कोरोना टेस्ट करने का काम कर रही है। पर्याप्त मात्रा में एंटीजन किट के साथ लैब टेक्नीशियन की ड्यूटी लगाई गई है। मालूम हो कि जिले में कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की संख्या में लगातार कमी आ रही है। यह जिले के लिए अच्छी खबर है। संक्रमण के मामले भले ही कम हो गये हो लेकिन आमजनों को अभी भी सावधानी बरतनी जरूरी है।
सभी पीएचसी प्रभारियों को जांच में तेजी लाने का दिया गया है निर्देश| सिविल सर्जन डा. सुनील कुमार झा ने बताया कि सदर अस्पताल के प्रभारी अधीक्षक, अनुमंडलीय अस्पतालों के उपाधीक्षकों व पीएचसी प्रभारियों को जांच में तेजी लाने का निर्देश दिया गया है।

विधायक ने खजौली सीएचसी का निरीक्षण किया, साफ-सफाई रखने का दिया निर्देश

खजौली विधानसभा क्षेत्र के स्थानीय विधायक अरुण शंकर प्रसाद ने सीएचसी खजौली का अचौक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने सीएचसी के अधूरा भवन, इमरजेंसी वार्ड ,ओपीडी, सीएचसी में पदस्थापित चिकित्सक, स्वास्थय कर्मी के स्थिती के सम्बंध में सीएचसी प्रभारी ज्योतेंद्र नारायण से विस्तार पूर्वक जानकारी लिया। सीएचसी प्रभारी ज्योतेंद्र नारायण ने विधायक प्रसाद को बताया कि सीएचसी में चौदह चिकित्सक के पद के अनुरूप महज एक चिकित्सक रहने के कारण लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने में काफी कठिनाई का सामना करना पड़ता है।

वहीं उन्होंने कहा कि सीएचसी के आधा अधूरा भवन ही निर्माण रहने के कारण सीएचसी के लिए मिले 30 बेड रखने की जगह नही रहने के कारण बेड कबाड़ा की स्थिती में बदल रहा है। जबकी 30 बेड के सीएचसी अस्पताल को महज 6 बेड के पीएचसी के सुविधा के हिसाब से संचालन करना पड़ता है। विधायक ने सीएसची के परिसर में फैले यत्र -तत्र जगह गंदगी को देखकर अबिल्बम हेल्थ मैनेजर प्रभात कुमार को सीएचसी परिसर को साफ सफाई करने का आदेश दिया। जिसे अबिल्बम दूर करने की प्रयास किया जाएगा। वही उन्होंने सीएचसी में पिछले तीन दिनों से तेल के अभाव में एम्बुलेंस सेवा ठप रहने के कारण लोगों की हो रही परेशानी से अवगत होते ही जब एसीओ राकेस कुमार ठाकुर से दूरभाष पर संपर्क स्थापित करने पर उनका मोबाइल बंद रहने की शिकायत सिविल सर्जन से करते हुए अविलम्ब लोगों की सुबिधा की ख्याल रखते हुए सुचारू रूप से संचालन करबाने की मांग किया।

वहीं अपने निरीक्षण के दौरान विधायक अरुण शंकर प्रसाद ने बताया कि खजौली की आधा अधूरा सीएचसी भवन निर्माण स्वास्थ्य कर्मी सहित चिकित्सक की अभाव के सम्बंध में सम्बंधित विभाग को लिख कर इसे पूरा करने की लगातार प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार के हर दिशा में बेहतर रूप से कार्य किया जा रहा है। वहीं उन्होंने बताया कि लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवा मिले इसके तहत खजौली विधानसभा अंतर्गत नरार थान टोल में हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर सहित पांच सेंटर खोला जाएगा। इस मौके पर विधायक प्रतिनिधि संभु नाथ ठाकुर, पश्चमी मंडल अध्यक्ष मोहन चौधरी ,कुंदन कुमार सिंह, सुमित कुमार सिंह विनोद पांडेय, सुभाष सिंह ,सहित अन्य लोग मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...