पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

परेशानी:4 दिनों से नहीं आई बिजली शाम हाेते छा जाता है अंधेरा

मधुबनी20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • साहरघाट पावर सब स्टेशन से होती है आपूर्ति

यास तूफान व आंधी-पानी का असर इतना खतरनाक है कि पिछले चार दिनों से बिजली रानी नहीं आ रही है। इसके कारण मुख्यालय सहित प्रखंड क्षेत्र शाम ढ़लते ही अंधेरे में डूब जाता है। इतना ही नहीं कई वर्षों से सभी उपभोक्ताओं को केरोसीन नहीं मिलने और बिजली की बेहतर आपूर्ति होने के कारण लोगों के घर में मिट्टी तेल की किल्लत रहती है। सिर्फ दीपावली में ही लोग दीप जलाने के लिए केरोसीन का जुगाड़ जैसे-तैसे करते हैं। बताते चलें कि साहरघाट स्थित प्रखंड के विद्युत पॉवर सब स्टेशन से मधवापुर, हरलाखी और बेनीपट्टी प्रखंड के 25 हजार उपभोक्ता जुड़े हैं जिन्हें यहां से विद्युत की आपूर्ति की जाती है। ये चार दिन और रातें लोगों ने बेचैनी के साथ गुजारी है।

वैश्विक महामारी कोविड को लेकर जारी लॉकडाउन में लोग अपने परिजनों तक से संपर्क नहीं कर पाए हैं। सबके मोबाइल, पॉवर बैंक, लैपटॉप, टेबलेट, इन्वर्टर आदि की बैट्री पूरी तरह बैठ गई है। जिनके हैंडपंप काम नहींं कर रहे और जो पानी के लिए पूरी तरह मोटर पर आश्रित हैं, उनके घर का तमाशा तो देखते बना है। पीने के पानी के लिए भी ऐसे लोग इधर-उधर घूम रहे हैं। किसी को यह उम्मीद नहीं थी कि बिजली रानी इस कदर रूठ जाएगी। हालांकि संवाद प्रेषण से महज पांच मिनट पहले बिजली आई थी लेकिन टिकी नहीं। जेई राजेश कुमार ने बताया कि 33 हजार वाले लाइन में फॉल्ट था। कल जब दो बजे बिजली आई तो दो फेज ही आपूर्ति हो रही था जिसके कारण सप्लाई उचित नहीं था।

खबरें और भी हैं...