वट सावित्री की पूजा की गई / लौकही प्रखंड में महिलाओं ने की वट सावित्री की पूजा

X

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

मधुबनी. लौकही बाजार, अटरी तुलसियाही, झहुरी, मनसापुर, नरहिया, बरुआर सहित विभिन्न गांवों में शुक्रवार को सुहागिन महिलाओं ने पति की लम्बी आयु और सुखमय जीवन के लिए सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए वटवृक्ष व वट सावित्री की पूजा की। उल्लेखनीय है कि वट वृक्ष में भगवान ब्रह्मा, विष्णु, महेश का निवास होता हैं। अमावस्या के दिन सावित्री ने अपने दृढ़ संकल्प और श्रद्धा से यमराज के द्वारा मृत पति सत्यवान के प्राण वापस कर लाई थी। महिलाएं भी इसी संकल्प के साथ अपने पति की आयु और प्राण रक्षा के लिए डाल में फूल, अगरबत्ती, पान प्रसाद आदि सामग्री से डाल सजा कर नई वस्त्र धारण कर दिन भर उपवास रह कर पूरे विधि विधान से वट वृक्ष व्रत सावित्री की सैकड़ों महिलाओं ने वट सावित्री की पूजा की।
सुहागिनों ने घरों में की वट सावित्री की पूजा, रखा उपवास
फुलपरास|पति की लंबी आयु एवं दांपत्य जीवन के कठिनाइयों को दूर करने के लिए सुहागिन महिलाओं ने शुक्रवार को वट सावित्री व्रत रखा तथा मान्यताओं के अनुरुप बरगद के पेड़ के नीचे बैठकर पूजा अर्चना की। महिलाओं ने घर में रहकर ही पूजा अर्चना की जबकि कतिपय महिलाओं के द्वारा घर के निकट अवस्थित बरगद के पेड़ों के नीचे जाकर भी पूजा अर्चना की गई। पूजा के डाला में सत्यवान सावित्री की मूर्ति, धूप, दीप, घी, फूल, फल, पूरियां, भींगा चना, बांस के पंखे, लाल धागा आदि लेकर बरगद पेड़ के नीचे सुहागिन महिलाओं के द्वारा विधान पूर्वक उपवास रख पूजा अर्चना की गई।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना