पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वायरल बुखार:पुर्जे पर सही ढंग से बीमारी का नाम लिखें डाॅक्टर : सीएस

मधुबनी12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सदर अस्पताल के ओपीडी में बच्चों को लेकर इलाज करवाने पहुंचे परिजन। - Dainik Bhaskar
सदर अस्पताल के ओपीडी में बच्चों को लेकर इलाज करवाने पहुंचे परिजन।
  • सर्दी-बुखार से पीड़ित बच्चों की संख्या बढ़ती जा रही है, इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट

जिले में आए दिन सर्दी बुखार से पीड़ित बच्चों की संख्या बढ़ती जा रही है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग की ओर से सभी को अलर्ट मोड में कर दिया गया है। सिविल सर्जन डा. सुनील कुमार झा ने सदर अस्पताल के प्रभारी अधीक्षक, अनुमंडलीय अस्पतालों के उपाधीक्षक व सभी पीएचसी प्रभारी को बच्चों में फैल रहे वायरल बुखार को लेकर सभी संबंधित अस्पतालों में अलग से पांच बेड की व्यवस्था करने को कहा है। सीएस ने जारी आदेश में कहा है कि राज्य में बढ रहे वायरल बुखार से ग्रसित बच्चों की संख्या बढने को लेकर जिला के सभी अस्पतालों को अलर्ट कर दिया गया है। सीएस ने कहा है कि पुर्जे पर डॉक्टर बीमारी का नाम सही से लिखें। ऐसी स्थिति में सभी चिकित्सक, पारामेडिकल स्टाफ व स्वास्थयकर्मी निर्धारित समय पर पहुंचें।

पंचायत चुनाव में स्वास्थ्यकर्मियों की नहीं लगेगी ड्यूटी : चुनाव आयोग

इधर राज्य निर्वाचन आयोग के स्वास्थयकर्मियों को पंचायत चुनाव कार्यों से मुक्त रखने के निर्देश के बाद विभिन्न स्वास्थ्य कार्यालयों से ड्युटी पर लगाए गए कर्मियों की सूची संबंधित विभाग को भेजा जा रहा है ताकि जिन स्वास्थयकर्मियों का नाम चुनाव ड्यूटी में दिया गया था, उसका नाम हटाया जा सके। मालूम हो कि औसतन सरकारी व निजी अस्पतालों को जोड दिया जाय तो प्रतिदिन जयनगर, झंझारपुर व मुख्यालय में 600 से 700 बच्चे प्रतिदिन सर्दी, जुकाम व बुखार से पीड़ित इलाज करवाने आ रहे हैं। हालांकि राहत की बात यह है कि अभी भी जिले में भर्ती बच्चों की संख्या अधिक नहीं है।

खबरें और भी हैं...