निवर्तमान को लोगों ने नकारा:सुगौली के 16 में 12, रामगढ़वा के 16 में 14 व रक्सौल के 13 में 10 नए चेहरे मुखिया बने

मोतिहारीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सुगौली प्रखंड की मतगणना के दौरान सबसे पहले बगही से मुखिया का परिणाम सामने आया

पंचायत चुनाव के 11वें चरण की मतगणना मंगलवार को संपन्न हो गई। मतगणना सुबह आठ बजे से शुरू हुई। सुगौली, रामगढ़वा व रक्सौली प्रखंड की मतगणना के लिए अलग-अलग कक्ष बनाए गए थे। 14-14 टेबल पर मतगणना कर्मी के साथ काउंटिंग ऑब्जर्वर मतों की गिनती किए। सुगौली प्रखंड की 16 पंचायत में 12 जगहों पर मतदाताओं ने नए चेहरे को अपना मुखिया चुना। चार जगह पर पुराने चेहरे रह गए। रामगढ़वा प्रखंड की 16 पंचायत में 14 जगहों पर नया मुखिया चुना। दो मुखिया अपनी सीट बचाने में कामयाब रहे।

रक्सौल प्रखंड की 13 पंचायतों में 10 जगहों पर मतदाताओं ने नया मुखिया चुना। तीन मुखिया अपनी सीट बचा सके। इस चरण में भी बदलाव की बयार हावी रहा। सुगौली प्रखंड की मतगणना के दौरान सबसे पहले बगही से मुखिया का परिणाम आया। उसके बाद एक-एक कर मतों की गिनती का परिणाम आने लगा। रामगढ़वा में सबसे पहले जैतापुर तो रक्सौल में सबसे पहले भेलाही पंचायत का परिणाम आया। सरपंच, जिला परिषद सदस्य, पंचायत समिति सदस्य के पदों पर भी बदलाव दिखा। इन पदाें पर भी कई जगहों पर मतदाताओं ने अपना प्रतिनिधि बदल दिया है।

मतगणना केंद्र पर मुखिया का चुनाव हारने के बाद रिकाउंटिंग को लेकर हंगामा

शहर के छतौनी थाना क्षेत्र स्थित डायट भवन में मंगलवार को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के मतगणना के दौरान मुखिया पद का चुनाव हारने के बाद एक पक्ष द्वारा जमकर हंगामा किया गया। बाद में भारी संख्या में अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाकर मामले को शांत कराया गया। वही मामले में 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार सभी रामगढ़वा थाना क्षेत्र के शिवनगर पंचायत के निवासी हैं। गिरफ्तार लोगों में अशोक कुमार गौरव कुमार, सौरव कुमार, हरीशचंद्र साह शामिल है। घटना को लेकर मतगणना केंद्र पर तैनात दंडाधिकारी सह जिला पंचायती राज पदाधिकारी रितेश वर्मा के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। कहा गया है कि रामगढ़वा थाना के शिवनगर पंचायत के अशोक साह मुखिया पद का चुनाव 21 मतों से हार गए। इसके बाद रिकाउंटिंग को लेकर हंगामा करने लगे। काफी समझाने के बावजूद भी आक्रोशित नहीं मान रहे थे।

396 में से 316 पंचायतों में नए मुखिया को कमान

जिले में 10 चरणों में हुए चुनाव का मंगलवार को समापन हो गया। अंतिम चरण में सुगौली, रामगढ़वा व रक्सौल प्रखंड का परिणाम घोषित किया गया। जिसके बाद प्रमुख, उपप्रमुख, जिला परिषद अध्यक्ष, उप मुखिया व उप सरपंच बनाने की कवायद शुरू हो गई है। 10 चरणों का पंचायत चुनाव जिले में काफी दिलचस्प रहा। इस दौरान जनता ने अपनी ताकत का एहसास करा 396 में 316 मुखिया को बदल दिया। मात्र 80 पुराने मुखिया ही अपनी सीट बचा सके। बदलाव की बयार सरपंच, पंचायत समिति सदस्य, जिला परिषद सदस्य, ग्राम पंचायत सदस्य व पंच पद पर भी दिखा।

मुखिया का सबसे दिलचस्प चुनाव मेहसी प्रखंड का रहा। जहां एक भी मुखिया अपनी सीट नहीं बचा सके। इस प्रखंड के 12 पंचायतों में सभी जगहों पर जनता ने मुखिया को बदल दिया। तुरकौलिया की बेलवा राय पंचायत में मात्र 22 वर्ष की प्रेरणा कुमारी को लोगों ने अपना मुखिया बनाया। प्रेरणा जिले में सबसे कम उम्र की मुखिया बनी। पीजी की छात्रा प्रेरणा ने चुनाव में पूरी मेहनत की थी हालांकि उसे परिवार के राजनीतिक पृष्ठभूमि का भी लाभ मिला उनके पिता प्रदीप साह उक्त पंचायत के दो बार मुखिया रह चुके हैं।

खबरें और भी हैं...