पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मिसाल:पिता की मौत के बाद जेनी ने घर-घर जाकर बच्चों को पढ़ाया ट्यूशन, फिर तैयारी कर बना दारोगा

मोतिहारीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जेनी का मुंह मीठा कराती उसकी मां व परिजन। - Dainik Bhaskar
जेनी का मुंह मीठा कराती उसकी मां व परिजन।
  • बचपन में ही पिता की मौत के बाद भी नहीं हारी हिम्मत, छोटे भाई बहनों की पढ़ाई का खर्च भी उठाया

कहते है जिनके हौसले बुलंद होते है वो रेगिस्तान में भी पानी निकाल लेते है। कुछ इसी तरह की कारनामें कर के दिखाया है घोड़ासहन की जेनी कुमारी ने।बचपन में पिता व मामा का साया सर से उठ जाने के बाद भी जेनी ने हिम्मत नही हारी। प्राइवेट स्कूल, कोचिंग सेंटर वघर घर जाकर ट्यूशन पढ़ा कर स्वयं सेल्फ स्टडी कर दरोगा की परीक्षा में सफलता प्राप्त की है।उन्हें बिहार पुलिस में दरोगा का पद मिला है। घोड़ासहन अम्बिका पैलेस मोहल्ला निवासी.अंजनी प्रसाद की भगिनी व राजकिशोर प्रसाद की पुत्री जेनी ने दरोगा की परीक्षा में सफलता प्राप्त कर पूरे क्षेत्र का नाम रौशन किया है। जेनी कुमारी ने बताया कि बचपन में पिता का साया सर से उठ गया। उसके बाद देखभाल करने वाले मामा अंजनी प्रसाद की भी मृत्यु हो गई। मेरे ऊपर मां सुधा देवी व छोटे भाई अमन की पढ़ाई व परवरिश के साथ साथ स्वयं की पढ़ाई भी की।

अरेराज के अनुराग बने दारोगा, क्षेत्र में हर्ष का माहौल

प्रखंड के पीपरा गांव के धनंजय चौबे एवं रुणा देवी के पुत्र अनुराग कुमार ने बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग द्वारा आयोजित परीक्षा में सफलता प्राप्त कर एवं दारोगा बनकर समाज एवं क्षेत्र का मान बढ़ाया है। अनुराग के पिता कमल रुद्र इंटर महिला महाविद्यालय में प्राध्यापक हैं तो माता आदर्श पंचायत पीपरा की सरपंच हैं। अनुराग ने अपनी मैट्रिक तक की पढ़ाई अरेराज के सरस्वती शिशु मंदिर में की तथा इंटरमीडिएट एएन कॉलेज पटना से किया। उसने बीटेक की पढ़ाई उत्तराखंड के इंजीनियरिंग कॉलेज से की। अनुराग ने बताया कि उसके दादा और नाना पुलिस विभाग में थे, वही से उन्हें पुलिस विभाग में जाने की प्रेरणा मिली। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता एवं पत्नी प्रिया चौबे को दिया। अनुराग ने बताया कि पद पर रहते हुए वे न्याय को सर्वोपरि मानेंगें। हर्ष व्यक्त करने वालों में समाजसेवी पप्पूरंजन मिश्रा, पीपरा पंचायत की मुखिया किरण देवी, राजद प्रखंड अध्यक्ष महेन्द्र कुमार राय, पूर्व प्राचार्य अनिल तिवारी, प्राचार्य रामललित शर्मा आदि हैं।

खबरें और भी हैं...