बड़े भाई को मारकर आंख निकाल ली:पूर्व चंपारण में आपसी विवाद में मारपीट शुरू हुई, पहले उतारा मौत के घाट, फिर एक आंख निकाली

मोतिहारीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मृत पड़ा युवक। - Dainik Bhaskar
मृत पड़ा युवक।

पूर्वी चंपारण जिला के सराय बनवारी गांव में साझी चापाकल को लेकर हुए विवाद में छोटे भाई ने बड़े भाई की पीट-पीटकर निर्मम हत्या कर दी। क्रूरता की हद इतनी थी कि हत्यारे ने अपने ही भाई की आंख निकाल ली। घटना बुधवार देर रात की है। सुबह आसपास के लोगों को इस निर्मम हत्या की जानकरी मिली तो सनसनी मच गई। स्थानीय लोगों की भीड़ लग गई। मृत युवक के ससुराल वाले हत्यारे की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे।

इधर, घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मेहसी थानाध्यक्ष सुनील कुमार सिंह ने बताया कि आपसी विवाद में हत्या की बात सामने आ रही है। कुछ लोगों से पूछताछ की जा रही है। मामले में आगे की कार्रवाई चल रही है। शव परिजनों को सौंप दिया गया है। नामजद लोगों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी गई है।

मृत युवक की पहचान सराय बनवारी गांव के स्व. शेख आलम का 36 वर्षीय पुत्र नूर आलम के रूप में हुई है। स्थानीय लोगों का कहना है कि साझी चापाकल के मरम्मती को लेकर नूर आलम व आलमगीर दोनों भाइयों में विवाद हो गया। विवाद बढ़ते-बढ़ते दोनों भाइयों के बीच जमकर मारपीट शुरू हो गई। इस दौरान मारपीट में नूर आलम की मौत हो गई।

मृत नूर आलम के भाई आलमगीर ने चापाकल के मरम्मती के पैसे को लेकर हुए विवाद में अपने भाई नूर आलम की बेरहमी से पिटाई कर दी। इसके बाद उसकी एक आंख भी निकाल लिया। मृत युवक की पत्नी घटना के संबंध में अपने मायके वालों को जानकारी दी। इसके बाद मृत युवक के ससुराल के लोग पहुंचे। उन्होंने पुलिस को इस सूचना से अवगत कराया।

खबरें और भी हैं...