धर्म-समाज:शक्ति की उपासना का महापर्व चैत्र नवरात्र आज से

मोतिहारी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सूर्योदय की प्रतिपदा तिथि मानकर पूरे दिन कराई जा सकती है कलश स्थापन, सीमित रहेगी छूटधर्म-समाज

जिले में मंगलवार से शक्ति की उपासना का महापर्व चैत्र नवरात्र शुरू हो जाएगा। करीब एक माह पूर्व से चल रही मां की प्रतिमा का निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है। हालांकि, इस बार भी भक्तों को मां की आराधना कोरोना गाइडलाइन के बीच करनी होगी।

क्योंकि, प्रशासन ने कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए सार्वजनिक स्थलों पर पूजा की छूट नहीं दी है। इस स्थिति में घर पर ही मां की आराधना होगी। चैत्र नवरात्र 13 से 22 अप्रैल तक चलेगा। वेद विद्यालय के प्राचार्य सुशील कुमार पांडेय ने बताया कि कलश स्थापन प्रातःकाल 05:43 बजे से लेकर दिन में 08:46 तक प्रतिपदा तिथि पर्यन्त किसी भी समय किया जा सकेगा। हालांकि, कलश स्थापन के लिए विशेष अभिजित मुहूर्त का समय दिन में 11:36 से लेकर 12:24 बजे का है। इस दिन प्रतिपदा तिथि दिन में 08:46 तक ही है, लेकिन सूर्योदय की तिथि मानकर पूरे दिन कलश स्थापन आदि किए जा सकेंगे। अष्टमी तिथि की महानिशा पूजा 19 अप्रैल को होगी। महाअष्टमी व्रत 20 मंगलवार को होगा। महानवमी का व्रत एवं श्रीरामनवमी का पुण्य पवित्र पर्व 21अप्रैल को मनाया जाएगा।

नवरात्रि अनुष्ठान व व्रत के समापन से संबंधित पूजन-हवन आदि 21 अप्रैल बुधवार को नवमी तिथि पर्यन्त रात्रि 07:01 बजे तक किया जा सकेगा। नवरात्र व्रत की पारणा 22 अप्रैल को प्रातः 05:37 बजे के बाद दशमी तिथि में किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...