मौत:ढाका के कार्यपालक अभियंता विजय कुमार की ब्रेन हेमरेज से हो गई मौत

मोतिहारीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नहर नवीकरण अनुसंधान प्रमंडल ढाका के कार्यपालक अभियंता इंजीनियर विजय कुमार का मंगलवार की सुबह असामयिक निधन हो गया। सहकर्मियों के अनुसार पिछले दो दिनों से वे सर दर्द और चक्कर से ग्रसित थे। परंतु वह हल्के में ले रहे थे। सुबह उनकी तबीयत अचानक बिगड़ गई। हाथ पैर जोर जोर से कांपने लगे। तेज सांस भी चल रही थी। तुरंत उन्हें ब्रह्मस्थान के समीप एक निजी चिकित्सक से दिखाया गया। पर उसने स्थिति अनियंत्रित बताते हुए आगे ले जाने की सलाह दी। बेहतर उपचार के लिए आनन फानन में उन्हें मोतिहारी ले जाया जा रहा था। इसी बीच रहमानिया अस्पताल पहुंचते-पहुंचते उनका निधन हो गया। वे डेहरी आसनसोल के रहने वाले थे।

इन दिनों वे अपनी पत्नी के साथ ढाका सरकारी आवास पर ही थे। पिछले फरवरी माह में वे ढाका में पदस्थापित हुए थे। उसके पहले वे मधुबनी में पोस्टेड थे। जानकारी के अनुसार वे पूर्व से हाइपर टेंशन व मधुमेह रोग से भी ग्रसित थे। इससे पहले भी दो बार वे गंभीर रूप से बीमार हुए थे। चिकित्सकों ने उन्हें आराम करने व ज्यादा तनाव न लेने की सलाह दी थी। वे वर्ष 2025 में सेवानिवृत होने वाले थे। मोतिहारी से लौटने के बाद लालबकेया नदी के किनारे गुआबारी घाट पर नहर नवीकरण के आईबी के समीप उनकी अंत्येष्टि की गई।

खबरें और भी हैं...