दीपोत्सव का पर्व संपन्न:घरों पर टिमटिमाते दीप व पटाखों की गूंज से आकाश में बिखरती रंग-बिरंगी रौशनी से जगमगाई दिपावली

मोतिहारी21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दीपावली के दिन काली मंदिर में दीप जलाते श्रद्धालु। - Dainik Bhaskar
दीपावली के दिन काली मंदिर में दीप जलाते श्रद्धालु।

जिले में दीपोत्सव हर्षोल्लास पूर्वक मनाया गया। जमकर आतिशबाजी की और अपने दोस्त व सगे-संबंधियों के घर जाकर लोगों ने पर्व की बधाई दी। बच्चों ने भरपूर मनोरंजन किया। शाम को मंदिर व घरों में दीपक जलाए गए। इससे पहले बच्चे, पुरुष ही नहीं, आकर्षण परिधान में सजधज कर तैयार महिलाओं ने मां लक्ष्मी की पूजा-अर्चना कर जीवन मंगल की कामना की।

शाम ढलने के साथ ही घर व प्रतिष्ठान में आरती की स्वर लहरियां सुनाई देने लगी। इधर, घर व मुंडेरों पर टिमटिमाते दियों के साथ वातावरण में पटाखों की गूंज से आकाश में बिखरती रंग-बिरंगी रौशनी से रात जगमगा उठी। घर व व्यवसायिक प्रतिष्ठान पर रंग बिरंगी रौशनी की तो आकाश में आतिशबाजी से सितारों की बारात सा नजारा दिखा। जगह-जगह रंगोली व बहनों ने अपने भाई की दीर्घायु जीवन की कामना को लेकर घरौंदा बनाया।

इससे पहले सुबह से घरों के अलावा बाजार में काफी रौनक दिखाई दी। घर को साज सजाने के साथ खरीदारी को पहुंचे लोगों से बाजार गुलजार हो उठे। शहर के बलुआ बाजार, कचहरी चौक,मीना बाजार, ज्ञानबाबू चौक आदि विभिन्न जगहों पर पटाखा, लक्ष्मी पूजन सामाग्री, सजावट के सामान, मिठाई आदि दुकानों पर खरीदारों की भीड़ उमड़ पड़ी। सभी ने सामग्रियों की जमकर खरीदारी की।

देर रात तक चला आतिशबाजी का दौर :
शहर से लेकर गांव तक आतिशबाजी का दौर देर रात्रि तक चला। बच्चे व जवानों ने रॉकेट छोड़कर दीपावली का खुब मजा लिया। इस कड़ी में विभिन्न किस्म के पटाखे भी जलाएं। शाम ढलते ही लोगों ने आतिशबाजी शुरू कर दी।

रक्सौल में लोगों ने घी के दिये जलाए
दीपावली की शाम घरो की साफ-सफाई पूरी करने के बाद लोगों ने घी के दिये जलाये और अपने-अपने घरो को सजा दिया। शाम के करीब 6 बजे तक पूरा शहर रौशनी में नहाया गया। गणेश-लक्ष्मी के स्वागत में पूरा शहर दुल्हन की तरह सज गया था। वही शाम को स्थानीय मंदिरों में जा कर लोग दीपक भी जलाए। शाम होने के साथ ही बच्चो ने जमकर आतिशबाजी करते हुए दीपावली का आनंद लिया। घर व प्रतिष्ठानों में व्यवसायियों ने लक्ष्मी पूजन किया। सबसे अधिक पूजा निशा बेला में सिंह लग्न के दौरान करायी गयी।

बिजली की झालरों से घर व प्रतिष्ठानों को सजाया
​​​​​​​
चकिया में दीपावली प्रखंड क्षेत्र में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। पर्व को लेकर शहर से गांव कस्बों तक सवेरे से ही लोग घर प्रतिष्ठानों आदि की साफ सफाई की तथा मिट्टी के दीए सहित विभिन्न रंगों की विद्युत चलित झालरों से घर व प्रतिष्ठानों आदि से सजाया गया था। वही बाजारों से लक्ष्मी माता और गणेश जी की मूर्ति खरीद कर घर पर लाकर सजा कर संध्या ढलते ही भक्ति भाव से ओतप्रोत होकर श्रद्धालुओं ने भगवान गणेश व मां लक्ष्मी की पूजा अर्चना की तथा प्रसाद का वितरण किया गया।

सुगौली में लोगों ने दीप जलाकर पूजा अर्चना किया। दीप जलाने के साथ हीं लोग अपने घर-दुकान में लक्ष्मी पूजन में लग गए। रंग बिरंगे रंगोली एवं चका-चौध रोशनी व पटाखे की आवाज से माहौल गुलजार बन गया। दीपावली को लेकर क्षेत्र के सभी बाजारों में सुबह से हीं ग्राहकों की काफी भीड़ दिखी। जहां देर शाम तक खरीदारी करते लोगों को देखा गया।

खबरें और भी हैं...