पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

व्यवस्था के विरुद्ध प्रदर्शन, ढाई घंटे सड़क जाम:मोतिहारी में बाढ़ पीड़ितों ने किया NH जाम; सुगौली में 2 दिनों से फंसे बाढ़ पीड़ितों का फूटा गुस्सा

मोतिहारी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुगौली में प्रदर्शन करते लोग। - Dainik Bhaskar
सुगौली में प्रदर्शन करते लोग।

बिहार में बाढ़ के कारण कई गांव में लोग फंसे हुए हैं। नदियां उफान पर हैं, इसलिए तेजी से कटाव हो रहा है। कई गांव पानी में डूब गए हैं। मोतिहारी के सुगैली प्रखंड में भी बाढ़ आ चुका है। सुकुलपाकड़ पंचायत के वार्ड-2 चीलझपटी के लोग 2 दिनों से बाढ़ में फंसे हुए हैं। गांव से आने-जाने का रास्ता टूट चुका है, इसलिए आवागमन पूरी तरह से ठप हो चुका है।

बाढ़ पीड़ितों के बचाव के लिए कोई राहत कार्य अब तक नहीं हो पाया है, जिसके कारण अब उनका गुस्सा फूट पड़ा है। शुक्रवार को वे सड़क पर उतर आए और NH को जाम कर दिया। व्यवस्था के विरुद्ध लोगों ने ढाई घंटे तक सड़क जाम किया। इस दौरान छोटी-बड़ी सभी गाड़ियां जाम में फंसी रहीं। सूचना पर पहुंचे BDO सरोज बैठा और थानाध्यक्ष विवेक जायसवाल के आश्वासन के बाद ही सड़क जाम हटाया जा सका।

2 दिनों से गांव में फंसे हैं चीलझपटी के लोग

आक्रोशित ग्रामीण राजधारी साह ने बताया कि गांव में दो दिनों से बाढ़ का पानी है। गांव का रास्ता पूरी तरह से बंद है। हम लोग बाढ़ में फंस गए हैं, बावजूद इसके आज तक एक भी अधिकारी इसकी सुध लेने नहीं पहुंचा है। प्रशासन को सूचना देने के बाद भी अब तक नाव और प्लास्टिक उपलब्ध नहीं कराया गया है।

गणेश ठाकुर ने बताया कि गांव से मुख्य सड़क पर जाने वाली सड़क को बाढ़ ने ध्वस्त कर दिया है, जिससे गांव से बाहर जाने के लिए कोई उपाय नहीं बचा है। लोग आवश्यक सामग्री बाजार से नहीं ला पा रहे हैं। लोगों के सामने भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई है। स्थानीय प्रशासन और जन प्रतिनिधि किसी तरह की मदद नहीं कर रहे हैं। कम से कम नाव की व्यवस्था हो जाती तो हमलोगों की सुरक्षा हो जाती।

जाम में फंसी गाड़ियां।
जाम में फंसी गाड़ियां।

ढाई घंटे तक रहा NH जाम

सुगौली के सुकुलपाकड़ पंचायत के वार्ड 2 चीलझपटी के बाढ़ पीड़ितों ने व्यवस्था के विरुद्ध चिलझपटी के समीप राष्ट्रीय राजमार्ग को जाम कर दिया। जहां घंटों आवागमन बाधित रहा। करीब ढाई घंटे सड़क जाम कर लोगों ने प्रशासन के विरुद्ध आक्रोश जताया। मौके पर नाराज बाढ़ पीड़ितों जमकर बवाल काटा और स्थानीय प्रशासन व जनप्रतिनिधियों के विरोध में नारेबाजी की। सड़क जाम की सूचना पर पहुंचे BDO सरोज बैठा एवं थानाध्यक्ष विवेक जायसवाल के आश्वासन के बाद सड़क जाम समाप्त हुआ।

खबरें और भी हैं...