पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना से बचने की दे रही जानकारी:लोक गायिका गीतों से मरीजों को दे रही हौसला

मोतिहारी13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नीतू कुमारी नूतन। - Dainik Bhaskar
नीतू कुमारी नूतन।
  • होम क्वारेंटाइन मरीजों को वर्चुअल संगीत के माध्यम से कर रही जागरूक

कोरोना ने भारत समेत दुनिया के देशों को परेशानी में डाल रखा है। भय, अवसाद,आर्थिक संकट से जूझ रहे तथा अपनों को गंवा चुके लोगों की सोच को महामारी ने कई मायनों में बदल सा दिया है। इसी दौरान लोक गायिका नीतू कुमारी नूतन क्वारेटाइन लोगों को ऑन लाइन संगीत सुना कर तथा आर्थिक रूप से कमजोर की मदद कर रही हैं।

लोक गायिका तथा भारतीय संगीत नाटक अकादमी, नई दिल्ली डॉ. नीतू कुमारी नूतन ने नये बदलावों को स्वीकार कर स्वच्छ, संयमित संतुलित व पारंपरिक जीवनशैली को अपनाने तथा प्राकृतिक उपचार को वह जीवन का जरुरी हिस्सा बताती हैं। वह कोविड काल में भी अपने गीतों से समाज को जागरूक कर रहीं हैं। होम क्वारेंटाइन मरीजों को वर्चुअल संगीत सुनाना, संगीत के अपने छात्र- छात्राओं को आनॅलाइन संगीत की शिक्षा दे रही हैं। वह कोरोना पर आधारित गीत गाकर तथा यू-ट्यूब पर लोड कर लोगों को मनोरंजन कर रहीं है। इसके अलावे आर्थिक संकट से जूझ रहे कलाकारों की मदद के लिए भी उन्होंने हाथ बढ़ाया है।

संगीत की शक्ति अपार

डॉ. नीतू ने कहा कि भगवान शिव के डमरू से उपजा संगीत आत्मरंजन का श्रोत, आत्मसाक्षात्कार की विधा व यौगिक क्रिया है। संगीत की स्वर लहरियों में तथा खासकर हमारी लोक संस्कृति में जीवन के चारों पहर की स्पष्ट झलक दिखती है। कहा कि लोक संस्कृति से ही संगीत की धाराओं का जन्म हुआ, इसे जीवन में उतार कर हम महामारी को दूर भगा सकते हैं। कोरोना से बचाव के लिए पारंपरिक, घरेलू व प्राकृतिक उपचार, शुद्ध जीवनशैली, सकारात्मकता व दूसरों के प्रति अच्छी सोच बहुत जरूरी है।

कलाकर्मियों की भी कर रही हैं मदद

डॉ. नीतू पिछले लांकडाउन से हीं आर्थिक रुप से कमजोर कलाकारों व कला वर्ग को लाभ पहुंचाने की कोशिशों में लगीं हैं। सरकार से इन कलाकारों को आर्थिक रूप से लाभान्वित कराया तथा खुद अपने स्तर से भी कई कलाकर्मियों का यथासंभव सहयोग किया।

ऑनलाइन संगीत का प्रशिक्षण

डॉ. नीतू नृत्य संगीत कला महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं को आनॅलाइन संगीत का प्रशिक्षण दे रही हैं। उनका कहना है कि संगीत सीख रहे बच्चे अवसाद से दूर हैं। उनमें आत्मविश्वास व सकारात्मक सोच विकसित हो रही है। इसके अलावे होम क्वारेंटाइन मरीजों से ऑनलाइन, वाट्सएप ग्रुप डॉ. नीतू उन्हें मनपसंद संगीत सुनाती हैं। कहा कि मनपसंद संगीत सुनाती है। उनका मानना है कि संगीत सुनने से इम्युनिटी सिस्टम बढ़ता है। संगीत अवसाद से बचा कर सकारात्मक सोच भरता है।

खबरें और भी हैं...