पौधरोपण:जीविका दीदी लगाएंगी फलदार पौधों की नर्सरी, मनरेगा करेगा पौधरोपण

मोतिहारी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डीडीसी ने बैठक कर जीविका समूह की महिलाओं को दी पूरी जानकारी

पौधरोपण के लिए अब मनरेगा को वन विभाग की निर्भरता नहीं रहेगी। मनरेगा जीविका दीदी की नर्सरी में उपजे पौधों से पौधरोपण करेगा। दीदी की नर्सरी को प्रखंड वार स्थापित करने की पहल अभी से ही शुरू की गई है। इसी नर्सरी से निकले पौधा से अगले वर्ष जुलाई-अगस्त के महीने में मनरेगा के तहत पौधरोपण किया जाएगा। दीदी की नर्सरी 24 प्रखंडों में स्थापित की जा रही है। जिसके लिए 24 जीविका समूह से मनरेगा ने एग्रीमेंट किया है। एग्रीमेंट के तहत पौधा लगाने सहित अन्य मुद्दों को लेकर मंगलवार को डीडीसी कमलेश कुमार सिंह ने जीविका दीदी के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने जीविका दीदी को पौधा लगाने से लेकर उसकी सुरक्षा एवं पौधा बेचने की प्रक्रिया को बताया। उन्होंने कहा कि चयनित प्रत्येक जीविका समूह को अपने-अपने प्रखंड में कम से कम 10 हजार पौधों की नर्सरी लगानी है। जिसमें सागवान, महोगनी, जामुन सहित अन्य फलदार पौधें होंगे। इन पौधों को मनरेगा खरीदेगा। जुलाई-अगस्त महीने में इसी पौधे से मनरेगा के तहत पौधरोपण कराया जाएगा।

पहले वन विभाग से मनरेगा खरीदता था पौधा
पौधरोपण के लिए मनरेगा वन विभाग से पौधा खरीदता था। 2020 में करीब तीन लाख, 21 में भी पांच लाख से अधिक पौधे मनरेगा ने वन विभाग से खरीदा था। जिसे अलग-अलग जगहों पर लगाया गया है।
जीविका दीदी को दी गई है ट्रेनिंग : पौधा तैयार करने की ट्रेनिंग जीविका दीदी को दी गई है। जीवधारा स्थित वन विभाग की पौधशाला में एवं पटना में उन्हें दो बार ट्रेनिंग दी गई है। जीविका समूह ने अपने-अपने प्रखंडों में स्थल को चिन्हित कर पौधशाला लगाने की प्रक्रिया शुरू की है। पौधशाला के लिए 2 कट्ठा जमीन की जरूरत है।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...