पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जागरूक रहें:पिछले साल 10 माह में 32 की मौत हुई थी इस साल पांच माह में ही 63 की गई जान

मोतिहारी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आइसोलेशन वार्ड से ठीक हुए मरीज को विदा करते स्वास्थ्य कर्मी। - Dainik Bhaskar
आइसोलेशन वार्ड से ठीक हुए मरीज को विदा करते स्वास्थ्य कर्मी।
  • जिले में छह की हुई मौत, कोरोना के 291 नए संक्रमित मिले, 246 स्वस्थ भी हुए

जिले में कोरोना का कहर लगातार जारी है। शुक्रवार जिले में कोरोना के 3313 जांच में 291 संक्रमित मिले हैं। वही कोविड केयर सेंटर में इलाज के क्रम में छह मरीजों की मौत हो गई। शुक्रवार को होम आइसोलेशन में रहने वाले 231 व आइसोलेशन वार्ड के 15 संक्रमित सहित 246 संक्रमित पूरी तरह ठीक हो गए है। जिले में अप्रैल से अभी तक 5195 संक्रमित मिले हैं। जबकि पिछले साल 8325 संक्रमित मिले थे। जिसमें 3091 मरीज पूरी तरह ठीक हो गए है। शेष बचे संक्रमितों में 272 को आइसोलेशन वार्ड, 15 को रेफर तथा 1923 को होम आइसोलेट किया गया है। जिले में फिलहाल 2210 एक्टिव केस है। शुक्रवार को शहर में 77 संक्रमित मिले हैं।

मोतिहारी में 53, पताही में 25, शरण नर्सिंग में 24, पीपराकोठी में 22, पहाड़पुर में 14, चकिया व कोटवा में 13-13, एसआरपी रक्सौल, ढाका, सुगौली व चिरैया में 10-10, पकड़ीदयाल में नौ, तुरकौलिया व संग्रामपुर में आठ-आठ, रक्सौल व बंजरिया में सात-सात, मधुबन में छह, तेतरिया, घोड़ासहन, डंकन रक्सौल में पांच-पांच, मेहसी, केसरिया, आदापुर, फेनहारा में चार-चार, अरेराज व छौड़ादानों में तीन-तीन, कल्याणपुर व हरसिद्धि में दो-दो तथा रामगढ़वा में एक संक्रमित मिले हैं। जिले में जनवरी से अभी तक 63 मरीजों की मौत इलाज के क्रम में हो चुकी है। जबकि पिछले साल मात्र 32 मरीजों की मौत एक साल में हुई थी। इस वर्ष के 36 मृत्यु में डंकन रक्सौल, एसआरपी रक्सौल, रहमानिया व शरण नर्सिंग होम शामिल है।

रिकवरी रेट 84.04% और पॉजिटिविटी रेट 1.18% हुआ
पिछले 37 दिनों में मिले 5486 संक्रमित, 3091 ठीक भी हुए

जिले में पिछले 37 दिनों में 5486 कोरोना संक्रमित मिले हैं। इसमें 3091 संक्रमित पूरी तरह ठीक हो गए हैं। 15 को बेहतर इलाज के लिए रेफर किया जा चुका है। वहीं 63 मरीजों की इलाज के क्रम में मौत हो चुकी है। जबकि सदर अस्पताल परिसर स्थित आइसोलेशन वार्ड के 335 बेड में 90, डंकन रक्सौल में 60 में 45, एसआरपी रक्सौल में 40 में 40, रहमानिया 30 में 18, शरण नर्सिंग होम में 50 में 50, चकिया में 50 में 13, ढाका में 50 में 5, अरेराज में 50 में 3, पकड़ीदयाल के 50 में 2 तथा पीएचसी के 192 बेड में 6 मरीज को भर्ती किया गया है। इसकी पुष्टि सिविल सर्जन डॉ. अखिलेश्वर प्रसाद सिंह ने की है।

डबल मास्क घरों में भी रहने पर लगाएं

​​​​​​​^कोरोना का दूसरा स्ट्रेन घातक साबित हो था है। लोग अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान रखें। कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए घरों में रहें। अधिक से अधिक लोग टीका जरूर लें। सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन रखें। डबल मास्क घरों में भी रहने के दौरान लगाएं। भीड़ भाड़ वाली जगहों पर बिल्कुल भी नही जाएं।
डॉ. चन्द्र सुभाष, ऑर्थोपेडिक सर्जन, मोतिहारी

खबरें और भी हैं...