विशेष पैकेज की मांग / प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने पीएम-सीएम को भेजा पत्र, निजी स्कूलों के लिए मांगा पैकेज

X

  • लॉकडाउन की वजह से स्कूलों में लटका ताला, वेतन की आ रही परेशानी

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

मोतिहारी. प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन, पूर्वी चंपारण की जिला कमेटी ने प्रधानमंत्री और बिहार के मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर कोरोना वैश्विक महामारी के दौरान निजी स्कूलों की खस्ताहाल स्थिति से अवगत कराया है। साथ ही विशेष पैकेज की मांग की है ताकि लॉकडाउन में निजी स्कूलों काे हुए नुकसान की भरपाई की जा सके। एसोसिएशन के अध्यक्ष भूषण कुमार, सचिव संतोष कुमार रौशन और कोषाध्यक्ष अभय मिश्रा आदि ने बताया कि कोरोना वैश्विक महामारी के कारण जिले के निजी विद्यालयों के लगभग एक लाख शिक्षक और कर्मी भुखमरी के कगार पर हैं। इस वैश्विक संकट में केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा देश के लगभग सभी जरूरतमंदों को सहायता पहुंचाई जा रही है जो स्वागत योग्य है। इस वैश्विक संकट में निजी विद्यालयों के संचालक और शिक्षकाें द्वारा परेशानियों को झेलते हुए ऑनलाइन पढ़ाई कराई जा रही है। अधिकतर निजी विद्यालय किराये के मकान में संचालित होते हैं जिसका मासिक किराया देना हाेता है। बिजली बिल, वाहनों का ऋण, शिक्षक व अन्य कर्मी के वेतन आदि के भुगतान के कारण आर्थिक बोझ बढ़ गया है। इससे निजी विद्यालयों की आर्थिक स्थिति दयनीय हो चुकी है। बावजूद इसके निजी विद्यालयों को सरकार से किसी भी प्रकार की वित्तीय सहायता प्राप्त नहीं हुई है। इस वैश्विक महामारी के कारण अभिभावकों की स्थिति दयनीय हो चुकी है। ऐसे में अधिकतर निजी विद्यालय वित्तीय सहायता के बगैर बंदी के कगार पर पहुंच जाएंगे। इसके फलस्वरूप लाखों युवा बेरोजगार हो जाएंगे। संघ के वरीय सदस्य शिव किशोर सिंह, एनके राही, कौशल किशोर, राजीव रंजन, मृत्युंजय मिश्रा, मुकेश शर्मा, प्रमोद मिश्रा, विजय कुमार आदि ने कहा कि अगर सरकार वित्तीय सहायता देती है तो कोरोना संकट से उबरने में काफी मदद मिलेगी। इसके साथ ही संघ ने सभी स्कूलों से किसी भी तरह का अन्य चार्ज न लेकर सिर्फ़ स्कूल फी लेने का निर्देश दिया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना