मुसीबत:बाढ़ से टूटी सड़कों की नहीं हुई मरम्मत लोगों को आने-जाने में हो रही परेशानी

मोतिहारी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बुढ़वा नासी के पास बना चचरी पुल जिससे पैदल आते जाते लोग। - Dainik Bhaskar
बुढ़वा नासी के पास बना चचरी पुल जिससे पैदल आते जाते लोग।
  • बुढ़वा व कुकुरजरी में चचरी पुल के सहारे लोग कर रहे हैं रोजमर्रा के काम

प्रखंड की लाइफ लाइन चैलाहा- फुलवार मुख्यपथ पिछले चार माह से जर्जर है। परन्तु इसकी मरम्मत नही हो सकी। जिस कारण क्षेत्र के लोगो को आने-जाने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। बाढ़ का पानी उतर जाने के एक माह बाद भी क्षेत्र के लोग चचरी पुल से आ जा रहे है। कुकरजरी व फुलवार में सड़क टूट जाने के कारण इन गांवों में चार पहिया वाहन का आना-जाना बंद है। पंचायत फुलवार उतरी दक्षिणी व रोहिनिया के लोग प्रखंड व जिला मुख्यालय आने जाने के लिए सुगौली होकर आ रहे है। आम दिनों में सड़क ठीक होने पर जहां 20 से 25 किमी की दूरी तय कर प्रखंड व जिला मुख्यालय आ रहे थे। वही अब सड़क टूटने के कारण सुगौली होकर 80 से 85 किमी की दूरी तय करनी पड़ रही है। जिसमे समय व पैसा दोनों अधिक लग रहा है।
सड़के हुई जर्जर
चैलाहा फुलवार मुख्यपथ पर करीब आधा दर्जन जगहों पर सड़कें टूट कर जर्जर हो गई है। जिसमे प्रखंड कार्यालय के सामने,बबरवाडीह नहर पुल से पहले, बुढ़वा नासी, करीमन के नासी व कुकुरजरी में सड़क बिल्कुल गढ्ढे में तब्दील हो गई है। जिससे पैदल चलना मुश्किल है। बुढ़वा नासी पुल के पास सड़क का संपर्क पथ बाढ़ के पानी मे बह गया है। वही करीमन के नासी के पास करीब चालीस से पचास फिट में सड़क बह गया है। बुढ़वा नासी व करीमन के नासी के पास ग्रामीणों द्वारा चचरी पुल बनाया गया है।

जिससे होकर साइकल व मोटरसाईकल ही आ जा सकता है। जिससे क्षेत्र के बड़े,बुजुर्ग, महिला व बच्चो को आने जाने में काफी दिक्कत हो रही है। रोहिनिया के दरोगा पटेल ने कहा कि विभाग के अधिकारी क्षेत्र की तूती सड़कों पर ध्यान नही दे रहे है। जिससे करीब आधा दर्जन पंचायत के एक लाख से ज्यादा आबादी परेशान है। सिसवनिया कि मतिउर्रमान ने बताया कि बाइक वाले से बढ़वा के लोग दस रुपए वसूल रहे है। जो काफी कष्टदायक साबित हो रहा है।

टेंडर हो चुका है
बताते चले कि प्रखंड में जून माह में बाढ़ आई जो करीब चार माह तक रही। जिसके कारण प्रखंड की सभी सड़कों का बुरा हाल कर दिया है। करीब साढ़े तीन माह तक पंचरुखा मध्य, जनेरवा, रोहिनिया, पंचरुखा पूर्वी, फुलवार उतरी व दक्षिणी पंचायत के लोग नाव से आ जा रहे थे। चैलाहा फुलवार मुख्यपथ का आरसीडी द्वारा निविदा की है चुकी है। जिसे बनाने का जिम्मा बाबाहंस को मिला है। परन्तु विभाग द्वारा अनुबंध नही होने से एजेंसी कार्य करने से कतरा रही है।
सड़क की होगी मरम्मत
सड़क को मोटरेबल बनाने के लिए स्थानीय विधायक डॉ शमीम अहमद ने दर्जनों बार विभाग को पत्र लिखकर सूचित किया। वही विधायक द्वारा मोटरेबल नही बनाये जाने ओर अनशन की भी धमकी दी थी। आरसीडी कि कार्यपालक अभियंता ने कहा कि इसी सप्ताह एजेंसी के साथ अनुबंध हो जाएगा। साथ ही चैलाहा फुलवार सड़क को एक सप्ताह के अंदर मोटरेबल बना दिया जाएगा। उक्त बाते बुधवार को मीडिया से बात करते हुए आरसीडी मोतिहारी के कार्यपालक अभियंता अशोक कुमार ने कही।

खबरें और भी हैं...